Resume Format Tips for Freshers, Experienced, Internship, Teachers Engineers, Accountant, Banker: Check them here - आपके रेज्युमे को "मैजिकल इंप्रेशन" देंगी ये 5 अहम बातें - Jansatta
ताज़ा खबर
 

आपके रेज्युमे को “मैजिकल इंप्रेशन” देंगी ये 5 अहम बातें

Resume Format Tips for Freshers, Experienced: वो कहते हैं न, "फर्स्ट इम्प्रेशन... इज लास्ट इम्प्रेशन..." तो कैसे आप अपने पहले इम्प्रेशन को बेस्ट बना सकते हैं, इसके बारे में कुछ कारगर टिप्स हम आपको देने जा रहे हैं। इनसे आपको रेज्युमे तैयार करने में काफी मदद मिलेगी।

Resume Format Tips for Freshers, Experienced: इनसे आपको रेज्युमे तैयार करने में काफी मदद मिलेगी।

नौकरी हासिल करने की कड़ी में रेज्युमे आपका पहला इम्प्रेशन बनाता है। रिक्रूटर्स आपके रेज्युमे को बहुत ध्यान से पढ़ते हैं और उसमें हुई एक गलती आपका नौकरी पाने का मौका छीन सकती है। वो कहते हैं न, “फर्स्ट इम्प्रेशन… इज लास्ट इम्प्रेशन…” तो कैसे आप अपने पहले इम्प्रेशन को बेहतर बना सकते हैं इसके बारे में कुछ कारगर टिप्स हम आपको देने जा रहे हैं। इनसे आपको रेज्युमे तैयार करने में काफी मदद मिलेगी।

फॉर्मैट- आपने कितना ही अच्छा क्यों न लिखा हो लेकिन अगर फॉर्मैट ठीक नहीं है तो सारी मेहनत बेकार हो सकती है। रिक्रूटर्स कई सारे रेज्युमे को स्कैन करते हैं। एक रेज्युमे को स्कैन करने में वे ज्यादा समय नहीं देते। ऐसे में आपका इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि रेज्युमे सही फॉर्मैट में हो। कॉल्म्स-रोज, मार्जिन्स बनाने का ध्यान रखें। इम्पॉर्टेंट पॉन्ट्स को बोल्ड में लिखें ताकि रिक्रूटर पहले उसे आसानी से पढ़ सकें। उदाहरण के लिए एजुकेशन क्वॉलिफिकेशन के हिस्से को टेबल फॉर्मैट में लिखें। बुलेट्स और नंबरिंग्स का भी इस्तेमाल करें।

उपलब्धियां- आप जिस भी कंपनी में जॉब के लिए जा रहे हैं, वहां के रिक्रूटर ये बात जानते होंगे ही कि जिस पद के लिए आपने अप्लाई किया है आप वो काम बखूबी जानते हैं। ऐसे में आप रिज्युमे में “क्या काम जानते हैं” के साथ अपनी उपलब्धियां बताना न भूलें। आपने जो अच्छे प्रदर्शन किए या अवॉर्ड्स जीते या फिर टार्गेट्स पूरे किए, इस तरह की अपनी उपलब्धियों का जिक्र करना न भूलें। इससे आपकी अलग पहचान बनेंगी और रिक्रूटर भी आपको लेकर कॉन्फिडेंट महसूस करेंगे।

ऑब्जेक्टिव- ये रेज्युमे का सबसे अहम हिस्सा माना जाता है। इसमें आपको अपने जीवन लक्ष्य (एम्बिशन्स-एम) के बारे में बताना है। यहां पर आपका ये ध्यान रखना जरूरी है कि आप कुछ भी फेक न बताएं। न ही बहुत ज्यादा बढ़ा-चढ़ा कर कोई जानकारी दें। रिक्रूटर हर इम्प्लॉइ से उम्मीद करता है कि वह ‘मेहनतकश’, ‘वक्त का पाबंद’, ‘चुनौतियों को कुबूल करने वाला’ और कई स्किल्स का जानकार होगा। ये बहुत ही कॉमन पॉइन्ट्स होते हैं और आपका इम्प्रेशन खराब कर सकते हैं। इस हिस्से को जितना छोटा रखने की कोशिश करेंगे उतना बेहतर होगा।

पेज- ध्यान रखें आपका रेज्युमे बहुत ज्यादा पेज का न बन जाए। एक आइडियल रेज्युमे 2 पन्नों का माना जाता है। ज्यादा पन्ने देखकर रिक्रूटर चिड़चिड़ा सकते हैं। इसका तरीका ये है कि सब कुछ शॉर्ट में लिखने की कोशिश करें। वर्क एक्सपीरिएंस सेक्शन को ओवरलोड न करें। आप जो काम जानते हैं सिर्फ उसके बारे में बताएं और अगर काम में कोई अहम उपलब्धी हासिल की है तो उसके बारे में बताएं।

झूठ- हो सकता है रेज्युमे में झूठ लिखकर भी आप नौकरी हासिल कर लें, लेकिन आगे चलकर आपको इसका नुकसान भुगतना ही होगा। बेहतर होगा कि आप सिर्फ सच बताएं। अगर वर्क एक्सपीरिएंस कम है तो उसे बढ़ा-चढ़ाकर बताने की जरूरत नहीं है। यही बात स्किल्स, नॉलेज और काम के लिए भी लागू होती है। इसलिए रेज्युमे में कुछ भी झूठ न लिखें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App