ताज़ा खबर
 

काम में हमेशा मोटिवेट रहने के लिए जरूर अपनाएं ये 6 Tips

Motivation Tips for Work: ऑफिस में बेहतर परफॉर्म करने और खुद को उत्साहित रखने में ये टिप्स काफी कारगर साबित हो सकती हैं।

इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (Source: Dreamstime)

लक्ष्य- यहां बात जीवन के लक्ष्य की नहीं हो रही है। जीवन में आपका लक्ष्य क्या है वह तो आप जानते ही होंगे लेकिन उसे पूरा करने के लिए आपको शॉर्ट और लॉन्ग टर्म गोल्स सेट करने होंगे। रोज जब आप काम के लिए निकलते हैं तो एक लक्ष्य तय करके निकलें। रोज ऑफिस में काम का एक टारगेट सेट करें और उसे पूरा करने की कोशिश करें। उसे पूरा करने में आप पास हो या फेल हों उसकी चिंता न करें। छोटे-छोटे गोल्स सेट करके खुद को ही चैलेंज करें। आगर आपके पास कोई लक्ष्य ही नहीं रहेगा तो आप काम के प्रति आपका उत्साह भी बरकरार नहीं रहेगा।

काम बांटे- अगर कोई बड़ा टास्क आपसे पूरा नहीं हो पा रहा है तो उसे छोटे हिस्सों में बांट कर पूरा करने की कोशिश करें। छोटे काम जल्दी पूरे होते हैं और इसलिए आपको इससे काफी मदद मिलेगी। ज्यादा जरूरत हो तो अपने काम को साथियों के साथ भी बांट लें। हेल्पिंग हैंड मिलने से भी काफी उत्साह बढ़ता है और हौसला बुलंद रहता है।

चेकलिस्ट- सेल्फ असिस्मेंट बहुत ही जरूरी है। अगर आप काम के दौरान उत्साहित रहना चाहते हैं तो अपनी प्रोग्रेस का एनालिसिस करना भी जरूरी है। यह जरूरी है कि आप चेक करें कि जो टारगेट्स आपने सेट किए थे वह पूरे हुए या नहीं। जब आप खुद का आकलन करेंगे और प्रोग्रेस देखेंगे तो आप और बेहतर करने के लिए खुद को मोटिवेट करेंगे।

आराम- काम करते हुए आपको लोड नहीं लेना हैा। अगर किसी एक समय पर आपसे कोई काम नहीं हो रहा है तो एक ब्रेक लीजिए। कई बार ऐसी स्थिति भी बनती है कि आपको पता होता है कि काम कैसे होगा, लेकिन आप उसे पूरा नहीं कर पाते। इसका कारण तनाव होता है। काम के दौरान बहुत ज्यादा तनाव लेने से आप वह काम भी करना भूल जाते हैं जिसमें आप एक्सपर्ट होते हैं। ऐसे में जब काम न हो रहा हो तो एक छोटा सा ब्रेक लें। अपनी डेस्क से उठकर टहलें, ऑफिस से बाहर जाकर चाय पी कर आएं या अपना कोई पसंदीदा गाना सुनें। ऐसा करने से आप रीफ्रेश्ड फील करेंगे।

नाकाम होने पर निराश न हो- यह जरूरी नहीं कि आप सब कुछ अचीव कर लें। हम सभी नाकाम भी होते हैं और ऐसे में खुद को कोसने या कमतर समझने की गलती न करें। ऐसी स्थिति में खुद को बेहतर बनाने की कोशिश करें। जरूरत हो तो इसके लिए अपने परिवार-दोस्तों से सलाह-मशविराह भी करें लेकिन खुद को कभी भी कमतर न समझें।

डिस्ट्रैक्शन- काम के दौरान प्रोफेशनल बने रहें। जो चीजें आपको डिस्ट्रैक्ट करती हैं उनसे दूरी बनाए रखें। यह सब आपकी स्पीड और गुणवक्ता पर भी असर डालते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App