ताज़ा खबर
 

इन टिप्स को आजमा टेलिफोनिक इंटरव्यू में हो सकते हैं सफल

अगर कभी आपको टेलिफोनिक इंटरव्यू का सामना करना पड़ा तो आप कैसे बात करेंगे? कभी सोचा है? नहीं सोचा है तो परेशान न हों। हम आपको इससे जुड़ी सभी जरूरी बातें बताएंगे।

प्रतीकात्मक फोटो (Source: Dreamstime)

जॉब इंटरव्यू के कई फॉर्मैट्स होते हैं और उन्हीं में से एक है टेलिफोनिक इंटरव्यू। इंटरव्यू का यह फॉर्मैट है तो काफी पुराना लेकिन आज के इंटरनेट, सोशल मीडिया और वीडियो कॉलिंग के दौर में भी यह काफी मशहूर है और अपना महत्व बनाए हुए है। टेलिफोनिक इंटरव्यू यानी टेलीफोन पर बातचीत। इसका इस्तेमाल आज भी बड़े पैमाने पर होता है। अगर कभी आपको टेलिफोनिक इंटरव्यू का सामना करना पड़ा तो आप कैसे बात करेंगे? कभी सोचा है? नहीं सोचा है तो परेशान न हों। हम आपको इससे जुड़ी सभी जरूरी बातें बताएंगे। चलिए जानते हैं।

बेकिस- टेलिफोनिक इंटरव्यू शुरू करने से पहले कुछ बेसिक बातों का ध्यान रखना जरूरी है। पहली चीज होती है टाईम। रिक्रूटर और इम्प्लॉई, दोनों का बातचीत के लिए सही समय चुनना जरूरी है। दोनों के लिए बात करने का जो समय सबसे मुफीद हो टेलिफोनिक इंटरव्यू के लिए वही समय चुनें। दूसरी चीज है बात करने के लिए फोन। आप चाहें तो लैंडलाइन या मोबाइल, दोनों में से किसी से भी बात कर सकते हैं। बस ध्यान रखें कि जहां आप बात कर रहे हों वहां नेटवर्क सही हो। इसके बाद आती है इंटरव्यू की लोकेशन। बेस्ट लोकेशन होगी एक बंद कमरा जो शोर-शराबे से बहुत दूर हो। सिर्फ तभी आप शांति से बात कर सकेंगे।

अपने साथ एक नोटपैड भी रखें। यह जरूरी नहीं आपको फोन पर रिक्रूटर द्वारा कही गई हर बात याद रह जाए। दोबार पूछने से गलत इंप्रेशन पड़ सकता है। कई रिक्रूटर इससे इरिटेट हो जाते हैं। ऐसे में अपनी तैयारी पहले से ही चुस्त रखें। अपने पास एक नोटपैड रखें और बातचीत के दौरान जो आपको जरूरी लगे उसे लिखते जाएं।

इसके अलावा पूरी तैयारी से, फॉर्मल तरीके से बैठें। अपने पास अपने सारे डॉक्यूमेंट्स तैयार रखें। रिक्रूटर आपका अनुभव पूछे और आप उन्हें फोन होल्ड कराकर डॉक्यूमेंट्स ढूंढने चले जाएं तो आपका रिजेक्ट होना तय है। अपना रेज्युमे भी साथ रखें। कुछ बेसिक सवाल जैसे सैलरी एक्सपेक्टेशन, नोटिस पीरियड आदि के जवाब पहले से ही तैयार करके रखें।

ध्यान से सुनें और फिर बोलें- टेलिफोनिक इंटरव्यू में रिक्रूटर की बात ध्यान से सुनना बहुत जरूरी है। इसलिए सुनें, ध्यान से सुनें और पूरी बात सूनें। बिना ध्यान से सुनें आप जवाब नहीं दे सकते। सब कुछ सुनने और समझने के बाद बारी आती है बोलने की। बोलते हुए आपको हड़बड़ाने की जरूरत नहीं है। कॉन्फिडेंट रहें और अपना जवाब दें। अपनी टोन अच्छी रखें। जल्दी-जल्दी बोलने की जरूरत नहीं है। अपनी बात ठीक से रखें।कोशिश करें की आप मोबाइल पर अपने इंटरव्यू की ऑडियो रिकॉर्ड कर लें। इंटरव्यू रिकॉर्ड करने से आप उसे दोबारा सुन सकेंगे और अपनी गलतियां समझकर आगे उन्हें सुधार सकेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App