ताज़ा खबर
 

यहां निकली है 2000 पदों पर भर्तियां, महीने से नहीं हर घंटे के हिसाब से तय होगा वेतन

हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड ने अप्रेन्टिस पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं, जिसमें 2000 पद शामिल है।

रक्षा मंत्रालय, रक्षा उत्पादन विभाग के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन एचएएल भारत सरकार की पूर्ण स्वायमित्व वाली कंपनी है।

हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड ने अप्रेन्टिस पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं, जिसमें 2000 पद शामिल है। इस भर्ती में चयनित उम्मीदवारों को मासिक आधार पर नहीं बल्कि घंटों के आधार पर पैसे दिए जाएंगे जो कि उनकी कैटेगरी के आधार पर तय किए जाएंगे। इन पदों के लिए इच्छुक और योग्य उम्मीदवार आवेदन करने की आखिरी तारीख से पहले आवेदन कर सकते हैं। इस भर्ती से जुड़ी जानकारी इस प्रकार है-

पद का नाम- अप्रेन्टिस

पदों की संख्या- 2000 पद

पे स्केल- इस भर्ती में चयनित होने वाले उम्मीदवारों की हर महीने के हिसाब से नहीं, बल्कि घंटे के हिसाब से पे-स्केल तय की जाएगी। इसमें कैटेगरी-I और कैटेगरी-II स्तर के उम्मीदवारों को 500 रुपये प्रति घंटे के हिसाब से पैसे दिए जाएंगे और अन्य उम्मीदवारों को 200 रुपये महीने के हिसाब से पैसे दिए जाएंगे।

योग्यता- इस भर्ती में आवेदन करने के लिए आवेदक के पास एनएसी/डिप्लोमा या ग्रेजुएट की डिग्री होनी आवश्यक है।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Warm Silver)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Honor 8 32GB Pearl White
    ₹ 12999 MRP ₹ 30999 -58%
    ₹1500 Cashback

अनुभव- इस भर्ती में आवेदन करने के लिए उम्मीदवार के पास एकेडेमिस्क्स या इंडस्ट्री में 10 साल का अनुभव होना चाहिए।

आयु सीमा- आवेदन करने के लिए आयु सीमा एचएएल के नियमों के तहत तय की गई है।

कैसे करें अप्लाई- इन पदों के लिए अप्लाई करने के लिए आवदेकों को आवेदन पत्र भरकर एचएएल के बैंगलोर स्थित कार्यालय में भेजना होगा।

आवेदन करने की आखिरी तारीख- 28 अक्टूबर 2016

एचएएल के बारे में- रक्षा मंत्रालय, रक्षा उत्पादन विभाग के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन एचएएल भारत सरकार की पूर्ण स्वायमित्व वाली कंपनी है। एचएएल की प्राधिकृत पूंजी 600 करोड़ रुपए है जिसमें 60,00,00,000 साम्याम शेयर हैं जिनमें से प्रत्येतक का अंकित मूल्य 10 रुपए है। एचएएल में एसयू30- I, हॉक-एजेटी, हल्कां लड़ाकू विमान (एलसीए), डीओ-228 विमान, ध्रुव-एएलएच एवं चीतल हेलिकाप्टरों का उत्पादन और जगुआर, किरण मार्कI/आईए/ Iए/II, मिराज, एचएस-748 एएन-32, मिग 21, एसयू-30 मार्क I, डीओ-228 विमान और एएलएच, चीता/चेतक हेलिकाप्टरों की मरम्मत व पुनर्कल्पन कार्य किया जा रहा है। कंपनी पुराने और नए सभी उत्पामदों के जीवन चक्र को बनाए रखने के लिए रखरखाव और पुनर्कल्पन सेवाएं देती है।

सरकारी नौकरी से जुड़ी और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App