ताज़ा खबर
 

Gujarat constable recruitment exam 2018: पेपर लीक में भाजपा के दो नेताओं का नाम, पार्टी ने किया निलंबित

पुलिस पांचवे आरोपी यशपाल सोलंकी को अभी गिरफ्तार नहीं कर सकी है। वह वडोदरा नगर निगम का कर्मचारी बताया जाता है।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (photo source PTI)

गुजरात पुलिस भर्ती परीक्षा से चंद घंटे पहले एग्जाम पेपर लीक के मामले पुलिस ने पांच में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों में दो भाजपा नेता और एक पुलिसकर्मी हैं। खबर के मुताबिक आरोपियों की पहचान सब इंस्पेक्टर पीवी पटेल, भाजपा सदस्य मुकेश चौधरी और मनहार पटेल के रूप में की गई है। एक अन्य आरोपी रुपल शर्मा है, जो एक निजी हॉस्टल का मालिक है। सोमवार (3 दिसंबर, 2018) सुबह शिकायत दर्ज होने के बाद इन्हें गिरफ्तार किया गया है। हालांकि पुलिस पांचवे आरोपी यशपाल सोलंकी को अभी गिरफ्तार नहीं कर सकी है। वह वडोदरा नगर निगम का कर्मचारी बताया जाता है। जानकारी के मुताबिक आरोपियों के भाजपा कार्यकर्ता के रूप में पुष्टि होने के बाद राज्य और केंद्र की सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मुकेश चौधरी और मनहार पटेल को पार्टी से सस्पेंड कर दिया है।

गौरतलब है कि राज्य में लोक रक्षक दल (एलआरडी) की भर्ती परीक्षा, परीक्षा पेपर लीक होने के चलते रद्द कर दी गई हैं। पेपर लीक नहीं होता तो परीक्षा बीते रविवार को आयोजित की जाती। हालांकि अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विकास सहाय ने भरोसा दिलाया है कि भर्ती परीक्षा एक महीने के अंदर दोबारा आयोजित की जाएंगी। मामले में विकास सहाय ने बताया, ‘मुझे जानकारी मिली थी कि असामाजिक तत्वों परीक्षा पेपर लीक कर दिया। मैंने प्रश्न पत्र तैयार किया था इसलिए मुझे तुरंत पता चल गया कि पेपर लीक हो गया है। यही वजह है जिसके चलते परीक्षा रद्द कर दी गईं। उम्मीदवारों की असुविधा हमें दुख है। शायद एक महीने के अंदर परीक्षा फिर से आयोजित की जाएंगी।’

बता दें कि राज्य में लोक रक्षक और हथियारबंद लोक रक्षक और जेल सिपाही के 9,713 पद के लिए परीक्षाएं आयोजित की गईं। परीक्षा में 8.75 लाख उम्मीदवार भाग लेने वाले थे। परीक्षा के लिए 2,440 परीक्षा केंद्र बनाए गए, जिनके 29,000 क्लासरूम में परीक्षा का आयोजन होता। परीक्षा रद्द होने पर विपक्षी कांग्रेस पार्टी ने भाजपा सरकार की आलोचना की। कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोशी ने कहा, ‘भाजपा सरकार गुजरात के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। इस सरकार को सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है जो बिना भ्रष्टाचार में शामिल हुए एक परीक्षा भी नहीं करा सकती।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App