ताज़ा खबर
 

फ्रांस में कर्मचारियों के लिए नया कानून, कंपनी वीकेंड पर नहीं कर सकती ई-मेल

फ्रांस में 50 से अधिक कर्मचारियों वाली कंपनियों में काम कर रहे कर्मचारियों के लिए एक नया कानून बनाया गया है, जिसके तहत कंपनी वीकेंड पर कर्मचारियों को ई-मेल नहीं कर सकती।
अब फ्रांस में ‘राइट टू डिस कनेक्ट’ लाया गया है जिससे कोई कंपनी अपने कर्मचारियों को पूरे हफ्ते काम करने के बाद कोई ईमेल नहीं कर सकेगी।

फ्रांस में 50 से अधिक कर्मचारियों वाली कंपनियों में काम कर रहे कर्मचारियों के लिए एक नया कानून बनाया गया है, जिसके तहत कंपनी वीकेंड पर कर्मचारियों को ई-मेल नहीं कर सकती। दरअसल कंपनियों में एक हफ्ते पूरे काम करने के बाद भी कर्मचारियों को काम को लेकर ई-मेल कर दिए जाते थे, जिसकी वजह से वो अपनी वीकेंड छुट्टी का मजा नहीं ले सकते थे। हालांकि अब फ्रांस में ‘राइट टू डिस कनेक्ट’ लाया गया है जिससे कोई कंपनी अपने कर्मचारियों को पूरे हफ्ते काम करने के बाद कोई ईमेल नहीं कर सकेगी।

यह कानून एक रिसर्च के बाद सामने आया है जिसमें कहा गया था कि डिजिटल लाइफ की वजह से कर्मचारियों का छुट्टी के दिन भी अपने ऑफिस से अलग होना मुश्किल हो रहा था। लेकिन अब इस नए कानून के बाद वो अपनी छुट्टी का अच्छे से मजा ले सकते हैं। फ्रांस की नेशनल असेंबली के बिनोयट हेमॉन ने बीसीसी को बताया कि सभी रिसर्च दिखा रहे हैं कि आज भी पहले से काम का तनाव कम नहीं है और ऐसा बरकरार रहेगा। उन्होंने कहा कि कर्मचारी शारीरिक रुप से तो ऑफिस को छोड़ देते हैं, लेकिन वो अपना काम नहीं छोड़ते हैं। वो एक कुत्ते की तरह इलेक्ट्रॉनिक सामानों से चिपके रहते हैं। नए कानून के अनुसार कंपनियां कर्मचारियों की नीतियों को नजरअंदाज करती है और कानून तोड़ने के लिए उनपर कोई भी कार्रवाई नहीं की जाती।

READ ALSO: जॉब इंटरव्यू में सक्सेस के लिए ध्यान में रखें ये 12 टिप्स

हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है कि इस तरह के बिल का प्रस्ताव रखा गया है। इस तरह के बिल का प्रस्ताव ही रखा जाता है लेकिन वो कभी पास नहीं हुआ था। बता दें कि फ्रांस में कर्मचारियों को एक साल में 30 छुट्टियां दी जाती है और 16 हफ्ते फैमिली लीव दी जाती है। हालांकि भारत में ओवरटाइम को लेकर कानून बना हुआ, जिसके तहत आप कर्मचारी से ज्यादा काम नहीं करवा सकते और अगर ऐसा होता है तो कंपनी को दोगुना पैसा देना पड़ता है।

देखें- जनसत्ता स्पीड न्यूज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.