ताज़ा खबर
 

तो इस वजह से 5 दिनों तक कपड़े नहीं पहनती इस गांव की शादीशुदा महिलाएं

यहां सालों से एक अनोखी परंपरा चली आ रही है जहां सावन के महीने में 5 दिन पूरे गांव की महिलाएं बिना कपड़े पहने रहती हैं। इस परंपरा की खासियत ये है कि इस दौरान महिलाएं मर्दों के सामने नहीं आती हैं।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

हमारे देश में एक ऐसा गांव भी मौजूद है जहां शादीशुदा महिलाएं 5 दिनों तक कपड़े नहीं पहनती हैं। इन पांच दिनों में वो बिना कपड़ों के रहती हैं। हम बात कर रहे हैं हिमाचल प्रदेश के मणिकर्ण घाटी में स्थित पीणी गांव की। यहां सालों से एक अनोखी परंपरा चली आ रही है जहां सावन के महीने में 5 दिन पूरे गांव की महिलाएं बिना कपड़े पहने रहती हैं। इस परंपरा की खासियत ये है कि इस दौरान महिलाएं मर्दों के सामने नहीं आती हैं। इन दिनों में उनके पति को भी पास आने की अनुमति नहीं होती है। वेसे तो इस परंपरा का जिक्र कहीं नहीं किया गया है लेकिन सालों से इस गांव के लोग इसे मनाते चले आ रहे हैं। परंपरा को लेकर लोगों का ऐसा भी मानना है कि अगर कोई महिला इस परंपरा का विरोध करती है या इसे करने से मना करती हैं तो उनके घर में कुछ अशुभ होता है।

गांव वालों का कहना है कि कुछ सालों पहले यहां एक राक्षस आया था। वह राक्षस अच्छे और सुंदर कपड़े पहनने वाली औरतों को उठा रहा था। उस समय इस गांव में लाहुआ घोंड देवताओं ने पहुंचकर इस राक्षस का अंत किया था। उनका कहना है कि आज भी गांव में लाहुआ देवता आते हैं और बुराइयों से लड़ाई लड़ते हैं।

इन पांच दिनों में महिलाएं खुद को इस संसारिक दुनिया से अपने आप को अलग कर लेती हैं। हालांकि अब इस परंपरा में थोड़ा सा बदलाव हो गया है। जहां पहले महिलाएं बिना कपड़ों के रहती थी वहीं अब महिलाएं बारीक कपड़े पहन लेती हैं। वह इन पांच दिनों में कपड़े नहीं बदलती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App