ताज़ा खबर
 

कभी सोचा है थियेटर की कॉर्नर सीट पर ही बैठना क्यों पसंद करते हैं कपल्स

आपने कभी इस बात को सोचा है कि थियेटर में अक्सर लोग कॉर्नर की सीट ही क्यों तलाशते हैं। दुनिया की नजरों से दूर थियेटर के कॉर्नर सीट पर कपल अंधेरे में ऐसा क्या करते हैं।
थियेटर में मूवी तो बहाना होता है असल मकसद तो अपने साथी के साथ कुछ बहुमूल्य समय बिताना होता है।

अपने जीवन में आप सभी अपनी गर्लफ्रेंड या पत्नी के साथ एक ना एक बार थियेटर जरूर गए होंगे। थियेटर में फिल्म देखने से ज्यादा हमारे साथ गर्लफ्रेंड या बीवी होने की खुशी हमें ज्यादा होती है। थियेटर में मूवी तो बहाना होता है असल मकसद तो अपने साथी के साथ कुछ बहुमूल्य समय बिताना होता है। अगर थियेटर में क्राउड कम हो तो फिर मजा ही कुछ और हो जाता है।

लेकिन आपने कभी इस बात को सोचा है कि थियेटर में अक्सर लोग कॉर्नर की सीट ही क्यों तलाशते हैं। दुनिया की नजरों से दूर थियेटर के कॉर्नर सीट पर कपल अंधेरे में ऐसा क्या करते हैं। कहते हैं प्यार को शब्दों की जरूरत नहीं पड़ती, इसके बावजूद हर लड़की की ख्वाहिश होती है कि उसका ब्वॉयफ्रेंड उसे बार-बार यह एहसास दिलाता रहे कि वह उससे कितना प्यार करता है। गर्लफ्रेंड अपने ब्वॉयफ्रेंड से अक्सर शादी और बच्चों के बारे में बात करना बहुत पसंद करती हैं।

ऐसे में खाली या कम लोगों से भरा हुआ थियेटर उनके लिए बेस्ट जगह साबित होती है। यहां आप बेझिझक अपनी गर्लफ्रेंड के साथ शरारत और मस्ती कर सकते हैं। लेकिन थोड़ा ध्यान से। कई बार आपस में किए गए हंसी-मजाक गंभीरता का रूप धारण कर लेती है। जिसका असर आपके रिलेशनशिप पर भी पड़ सकता है। आप भी अगर अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कुछ यादगार पल बिताना चाहते हैं तो थियेटर की कॉर्नर सीट आपका इंतजार कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App