ताज़ा खबर
 

इस जेल को माना जाता है नर्क का गांव, तीन पीढ़ी काटती है एक गुनाह सजा

इस जेल की सजा के बारे में अगर बात करें तो हार्ड लेबर कराने, भूखा रखने, रेप, एग्जीक्यूशन के अलावा फीमेल कैदियों का जबरन अबॉर्शन और बच्चों की निर्मम हत्या शामिल है।
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

जेल यानी किसी अपराधी को उसके अपराध की सजा देने के लिए उसे जेल भेजा जाता है। दुनियाभर में अपराध साबित होने के बाद जेल में रहने की सजा सुनाई जाती है। जेल का मतलब तो आप सभी जानते हैं लेकिन आज हम जिस जेल के बारे में बता रहे हैं वो बाकी जेलों से अलग है। इस जेल में आने वाला अपराधी अपनी जिंदगी से ही परेशान हो जाता है क्योंकि यहां एक कैदी की सजा उसकी बाकी दो पीढियों को भी भुगतनी पड़ती है। आइए बताते हैं इस जेल के बारे में ऐसी बातें जिसे जानकर आप भी चौक जाएंगे।

दरअसल हम बात कर रहे हैं नॉर्थ कोरिया की लेबर कैम्प्स जेल के बारे में। जेल में दी जाने वाली खौफनाक सजाएं इस जेल के सामने फिकि नजर आएंगी। साल 2014 में लेबर कैम्प्स से जान बचाकर भाग निकले कुछ कैदियों ने यूएन कमीशन को इस जेल में दी जानें वाली सजा के बारे में बताया तो वो भी हैरान रह गए।

इस जेल की सजा के बारे में अगर बात करें तो हार्ड लेबर कराने, भूखा रखने, रेप, एग्जीक्यूशन के अलावा फीमेल कैदियों का जबरन अबॉर्शन और बच्चों की निर्मम हत्या शामिल है। जिसे एक नहीं बल्कि तीन पीढ़ियों को भुगतना पड़ता है। जी हां, फैमिली के एक सदस्य के गुनाह की सजा उसकी तीन पीढ़ियों को भुगतनी पड़ती है। इस वजह से ये जेल एक गांव की तरह हो चुकी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 2014 तक देश में करीब 1,20,000 कैदी अलग-अलग लेबर कैम्प्स में बंद थे।

कहा जाता है कि ये जेल यहां के कैम्प नर्क से कम नहीं हैं। कैदियों को दिन के 14, 15 या 16 घंटे काम करना पड़ता है। कैदियों से फील्ड वर्क कराने से लेकर जंगल में लकड़ी काटने, यहां तक कि खदानों में भी जबरन काम लिया जाता है।

कैदियों को टार्चर करने का दूसरा तरीका ये ळै कि उन्‍हें जैवकीय प्रयोग के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है। उन पर विभिन्‍न प्रकार के जैविक हथियारों के प्रयोग किए जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.