ताज़ा खबर
 

नाबालिग लड़को ने किया पुलिस का ‘रियल्टी टेस्ट’, चोरी के फोन से मंत्री की उड़ा दी नींद

पुलिस प्रशासन का टेस्ट करने के लिए तीन नाबालिग लड़कों ने मंत्री के परिवार को जान से मारने की धमकी दी।

झारखंड के श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण मंत्री राज पलिवार को एक धमकी भरा एसएमएस मिला।(फोटो सोर्स- ट्विटर)

पुलिस अपना काम सही कर रही है या नहीं? इसकी जांच करने के लिए तीन नाबालिग लड़कों ने पहले मोबाइल चुराया फिर उसी मोबाइल से मंत्री को जान से मारने की धमकी दे डाली। दरअसल, बिते शनिवार रात के समय झारखंड के श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण मंत्री राज पलिवार को एक धमकी भरा एसएमएस मिला। इस एसएमएस में मंत्री से एक करोड़ की रंगदारी मांगी गई, साथ ही रंगदारी ना देने पर पूरे परिवार को जान से मारने की बात कही गई थी।

सोमवार सुबह जब मंत्री ने इसकी सूचना पुलिस को दी तब पुलिस एक्टिव हुई। देवघर एसपी ए विजयालक्ष्मी खुद इस मामले के उद्भेदन को लेकर छानबीन कर रही थीं, तभी इस मामले का तार मारगोमुंडा से जुड़ा मिला और सारा मामला साफ हो गया। एसपी की मानें तो मंत्री से रंगदारी के साथ धमकी देने की साजिश किसी दुश्मनी या अपराध की नीयत से नहीं बल्कि सनसनी फैलाने और जिले की पुलिस कितनी एक्टिव है यह जांचने के लिए थी।

पुलिस प्रशासन का टेस्ट करने के लिए तीन नाबालिग लड़कों ने ये ट्रिक आजमाई और पूरे इलाके में सनसनी फैला दी। इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने सीडीआर के आधार पर मारगोमुंडा थाना क्षेत्र में छापेमारी की। पुलिस ने एसएमएस के लिए इस्तेमाल किया गया सिम कार्ड और मोबाइल बरामद कर लेने का दावा किया।

बुधवार को नगर थाना में एसपी ए विजयालक्ष्मी ने बताया कि तीन नाबालिग बच्चों ने यह काम किया है, जिन्हें पकड़ भी लिया गया है। इनमें एक बच्चे के पिता मदन राय पॉकेटमारी का काम करता है, ये मोबाइल भी उसने सुल्तानगंज से देवघर कांवर यात्रा के दौरान कानपुर के एक कांवरिया से चोरी किया था। चोरी किए गए मोबाइल को ही नाबालिग लड़कों ने एसएमएस भेजने के लिए इस्तेमाल किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App