ताज़ा खबर
 

करोड़ों में बिकती है मर्दानगी बढ़ाने वाली यह छिपकली

घरों के अंदर छिपकली दिखना बेहद आम बात है। कुछ लोग अपने घरों के दीवार पर छिपकली का होना शुभ मानते हैं तो वहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं जो इन्हें मारते-भगाते हैं। लेकिन कुछ दिन पहले ही छिपकली को लेकर एक ऐसा खुलासा हुआ जिसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे।
लोगों का ऐसा मानना है कि इन छिपकलियों के मीट से बनाए जाने वाली दवाई काफी लाभदायक होती है। (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

घरों के अंदर छिपकली दिखना बेहद आम बात है। कुछ लोग अपने घरों के दीवार पर छिपकली का होना शुभ मानते हैं तो वहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं जो इन्हें मारते-भगाते हैं। लेकिन कुछ दिन पहले ही छिपकली को लेकर एक ऐसा खुलासा हुआ जिसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। कुछ दिन पहले ही सशत्र सीमा बल (एसएसबी) की 17वीं बटालियन ने एक तस्करों को एक अलग तरह की छिपकली के साथ गिरफ्तार किया है। आप भी सोच रहे होंगे भला ये अलग तरह की छिपकली क्या होती है?? दरअसल, कुछ लोग ऐसी छिपकली की तस्करी करते हैं जो मर्दाना ताकत बढ़ाने का कार्य करती हैं। इन छिपकलियों से डायबिटीज, नपुंसकता, एड्स और कैंसर की भी दवाएं बनाई जाती हैं। इस छिपकली का नाम है टोके गीको है। जिसकी कीमत करोड़ों में होती है। भारत से इन छिपकलियों को दूसरे देशों में बेचा जाता है।

लोगों का ऐसा मानना है कि इन छिपकलियों के मीट से बनाए जाने वाली दवाई काफी लाभदायक होती है। सुरक्षा बलों ने टिकन बर्मन नाम के एक तस्कर को पकड़ा था, जो इन छिपकलियों को दूसरे देशों में बेचना का कम करता था। इंडोनेशिया, बांग्लादेश, पूर्वोत्तर भारत, फिलीपींस तथा नेपाल में पाई जाने वाली इस छिपकली की कीमत एक करोड़ रुपए तक बताई जाती है।

यही वजह है कि पैसे कमाने के लिए लोग अवैध तरीके से इसकी तस्करी करते हैं। सिर्फ इस साल ही एसएसबी ने 65 मामलों में 75 तस्करों को गिरफ्तार किया है। इंटरनेशनल मार्केट में इस तरह की छिपकलियों की बड़ी मांग है। इस छिपकली को पाने के लिए लोग हर तरह की कीमत चुकाने को तैयार रहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.