ताज़ा खबर
 

इस द्वीप पर घरवालों की लाश संग अपनी अंगुली काटकर क्यों जलाते हैं लोग

यह परंपरा यहां कई सालों से चल रही है। वेस्ट पापुआ के बालियम वैली में दानी जनजाति (नदानी) रहती है। जब इस समुदाय में किसी की मौत हो जाती है, तो परंपरा के...

जज्बात और प्यार में इंसान क्या कुछ नहीं करता। ऊपर से परंपरा की आधिकारिक मुहर लग जाए, तो फिर क्या कहने। न्यू गुएना में लोग करीबियों के गुजरने के बाद अपनी अंगुली काटकर उनकी लाश के साथ जलाते हैं। ऐसा वह उनके साथ अपना प्यार जताने के लिए करते हैं। यहां मान्यता है कि ऐसा करने से मरने वाले की आत्मा और अंगुली कटाने वाले (उसे चाहने वाले) का शरीर हमेशा साथ रहेगा।

यह परंपरा यहां कई सालों से चल रही है। वेस्ट पापुआ के बालियम वैली में दानी जनजाति (नदानी) रहती है। जब इस समुदाय में किसी की मौत हो जाती है, तो परंपरा के अनुसार दाह संस्कार किया जाता है। मगर यहां एक चीज थोड़ी अलग होती है। वह है मरने वाले के रिश्तेदारों या पति-पत्नी का अंगुली कटाना। जी हां, सही पढ़ा आपने।

मरने वाले के रिश्तेदार अपनी अंगुलिया कटाते हैं। वे दाह संस्कार से पहले भस्म और बालू चेहरे पर पोतते हैं। ऐसे वह महज दुख जताने के लिए करते हैं और मरने वाले के लिए अपना प्यार जाहिर करते हैं।

इसके बाद मरने वाले की लाश के साथ उस अंगुली को जलाया जाता है। माना जाता है कि अंगुली को लाश के साथ जलाने से मरने वाले की आत्मा और उसे चाहने वाले का शरीर हमेशा साथ रहेगा। अंगुलियां कितनी कटेंगी, यह इस बात पर निर्भर करता है कि मरने वाले को कितने लोग चाहते थे और अंगुलियां कटने के बाद क्या वह घर के बाकी कामकाज संभाल सकेगा/सकेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App