ताज़ा खबर
 

बांग्लादेश सरकार नहीं मानती कि मैंने आतंकवादी गतिविधियों को प्रेरित किया : जाकिर नाइक

विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक ने शनिवार को दावा किया कि बांग्लादेश के किसी भी अधिकारी ने यह नहीं कहा कि उन्होंने आतंकवादी गतिविधियों की प्रेरणा दी है। ढाका आतंकवादी हमले में शामिल हमलावरों में से एक के जाकिर से प्रभावित होने की खबरें आने के बाद से वह लोगों की नाराजगी झेल रहे हैं। नाइक […]

Author मुंबई | July 9, 2016 20:35 pm
इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक। (Source: Twitter)

विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक ने शनिवार को दावा किया कि बांग्लादेश के किसी भी अधिकारी ने यह नहीं कहा कि उन्होंने आतंकवादी गतिविधियों की प्रेरणा दी है। ढाका आतंकवादी हमले में शामिल हमलावरों में से एक के जाकिर से प्रभावित होने की खबरें आने के बाद से वह लोगों की नाराजगी झेल रहे हैं। नाइक ने कहा, ‘‘मैंने बांग्लादेशी सरकार के लोगों से बात की। उन्होंने मुझसे कहा, उन्हें विश्वास नहीं है कि मैंने बांग्लादेशी आतंकवादियों को मासूम लोगोंं की हत्या करने के लिए प्रेरित किया। यह अलग मुद्दा है कि वह मेरा प्रशंसक था।’’

यहां एक विज्ञप्ति जारी कर नाइक ने कहा, ‘‘दुनिया भर में मेरे लाखों प्रशंसक हैं। 50 प्रतिशत से ज्यादा बांग्लादेशी मेरे प्रशंसक हैं, लेकिन यह कहना कि मैं उन्हें मासूमों की हत्या करने के लिए प्रेरित करता हूं, शैतानी बात होगी।’’ फिलहाल सऊदी अरब में मौजूद नाइक का कहना है कि सिर्फ एक देश ने उनके प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया हुआ है और वह इंग्लैंड है।
उन्होंने कहा, ‘‘एकमात्र देश, जिसके बारे में मुझे पता है, जिसने एक बार मुझे प्रवेश करने से रोका था, वह इंग्लैंड है। मेरे पास कोई साक्ष्य नहीं है कि अन्य किसी देश ने मुझे आधिकारिक रूप से प्रतिबंधित किया हो। और मलेशिया? यह कुतर्क है, क्योंकि तीन साल पहले ही मुझे ‘तोकोह माल हिजरा’ सम्मान और ‘किंग फैसल इंटरनेशनल प्राइज’ मिला था, जो मलेशिया का सर्वोच्च सम्मान है…।’’

जाकिर नाइक ने कहा, ‘‘पिछले 25 वर्षों में यह सम्मान पाने वाला मैं चौथा विदेशी नागरिक था…. क्या वे ऐसे व्यक्ति को सम्मानित कर सकते हैं जो आतंकवाद को बढ़ावा देता हो? भारतीय अखबारों ने बिना पुष्टि किए ढाका के अखबार की खबरें उठा लीं।’’

ढाका में प्रकाशित एक खबर में कहा गया था कि बांग्लादेश सरकार नाइक की जांच कर रही है और देश में हुई दो आतंकवादी घटनाओं के मद्देनजर उनके ‘‘भड़काउच्च्’’ भाषणों को प्रतिबंधित करने की संभावनाओं पर विचार कर रही है।बांग्लादेश के गृहमंत्री असदुजमा खान ने कहा कि उनकी खुफिया एजेंसियां इस्लामिक उपदेशक की जांच कर रही हैं।
खान ने कहा, ‘‘वह हमारे सुरक्षा स्कैनर पर हैं… हमारी खुफिया एजेंसियां उनकी गतिविधियों की जांच कर रही हैं क्योंकि उनके भाषण भड़काऊ प्रतीत होते हैं।’’ महाराष्ट्र सरकार ने भी जाकिर नाइक के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं, जिसके बाद विवाद शुरू हो गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App