ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तानी मूल की लेखिका ने लिखा बोल्‍ड लेख, हो रही आलोचना

सेक्‍स लाइफ को लेकर लिखे गए लेख ने इन दिनों पाकिस्‍तान में हंगामा मचा रखा है। कनाडा में रहने वाली लेखिका जेहरा हैदर ने एक अंग्रेजी वेबसाइट के लिए लेख लिखा है।
कनाडा में रहने वाली लेखिका जेहरा हैदर ने पाकिस्‍तान में रहने के दौरान शादी से पहले शारीरिक संबंध बनाने की घटना का जिक्र किया है। (Photo: Facebook)

एक पाकिस्‍तानी महिला के सेक्‍स लाइफ को लेकर लिखे गए लेख ने इन दिनों पाकिस्‍तान में हंगामा मचा रखा है। कनाडा में रहने वाली लेखिका जेहरा हैदर ने एक अंग्रेजी वेबसाइट के लिए लेख लिखा है। इसका शीर्षक ‘पाकिस्‍तान में शादी से पहले सेक्‍स से मैंने क्‍या सीखा? ‘ है। इसमें जेहरा ने पाकिस्‍तान में रहने के दौरान शादी से पहले शारीरिक संबंध बनाने की घटना का जिक्र किया है। साथ ही बताया कि पाकिस्‍तान में ऐसा करने से कितना हंगामा होता है। उनका यह लेख पाकिस्‍तान में वायरल हो गया है। इस लेख पर काफी लोग जेहरा हैदर की आलोचना भी कर रहे हैं।

उन्‍होंने लिखा,’पाकिस्तान एक इस्लामिक और कट्टरपंथी देश है, जहां के लोग पोर्न देखने के मामले में दुनिया में सबसे आगे हैं। यह स्टेटमेंट पाकिस्तान के कल्चर को बयां करने के लिए काफी है। हम सेक्स के लिए अतिउत्साही हैं। लेकिन, फिर भी पाकिस्तान में सेक्स एक टैबू सब्जेक्ट है। हमारी मर्दवादी सोसायटी में पुरुषों का चरित्र इससे तय नहीं किया जाता, लेकिन अगर कोई मिडल क्लास फैमिली या लोअर बैकग्राउंड की लड़की शादी से पहले सेक्स करते हुए पकड़ी जाए तो हंगामा मच जाता है।

शादी से पहले सेक्स को लेकर गरीब बैकग्राउंड की लड़कियों को सजा देने का चलन पूर्व राष्ट्रपति जिया-उल-हक की डिक्टेटरशिप या ‘इस्लामाइजेशन’ के समय से शुरू हुआ। ये जीना (पत्थरों से मारना) और हुदूद (कोड़े मारना, हाथ काटना और ऑनर किलिंग) हैं। उनकी सरकार के समय महिलाएं रेप का आरोप नहीं लगा सकती थीं। अगर कोई ऐसा करता, तो उसे व्यभिचारी बताकर जेल भेज दिया जाता था। हालांकि, इस तरह की सजाएं अब कम हो चुकी हैं, लेकिन लोगों की मेंटेलिटी अब भी वैसी ही है। मुस्लिम सोसायटी में जेंडर बेस्ड क्राइम के लिए शरिया लॉ को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। यहां महिलाओं के लिए फ्रीडम ऑफ स्पीच और ह्यूमन राइट्स की कमी है।

2012 में पढ़ाई के लिए कनाडा आने से पहले मैं दर्जनों लोगों के साथ सेक्शुअल रिलेशन में रह चुकी हूं। ऐसा नहीं है कि मैं इसे लेकर काफी ओपन थी। पाकिस्तान में रहते हुए मुझे काफी दबाया गया। जिंदगी के सबसे कामुक दिनों में ऐसी पाबंदियां के कारण मैं सेक्स के बारे में कुछ ज्यादा ही सोचती थी। पाकिस्तान में रहते हुए मैंने कई तरह से सेक्स किया। अपने पार्टनर के घर में, उसके पापा के ऑफिस में और सुनसान जगह पर खड़ी कार में। कई बार होटल्स का भी यूज किया। चूंकि, इस्लामाबाद में सिर्फ दो बड़े होटल हैं, जिनमें से एक है मैरिएट। इसका एक रात का किराया 150-200 डॉलर तक है, जो किसी कम उम्र के लड़के-लड़की के लिए काफी महंगा है। हालांकि, सिर्फ पैसे खर्च करके रूम बुक करना ही सबकुछ नहीं है। इसके बाद भी कई झमेले होते हैं। जिसके नाम से रूम बुक होता है, वो पहले जाता था। इसके 15 मिनट बाद दूसरा शख्स रूम में जाता, ताकि किसी को शक न हो और हम पकड़े न जाएं।

AlSo read: शादी से पहले Sex Life पर पाक महिला ने लेख लिखकर बयां किया अनुभव, Social Media पर मचा बवाल

अगर आप पकड़े गए तो इससे बुरा कुछ नहीं हो सकता। एक बार मेरी आंटी के ब्वॉयफ्रेंड को जमकर पीटा गया था। अपने ब्वायफ्रेंड से मिलते हुए मैं भी एक बार पकड़ी गई थी। घरवालों ने मेरी किसी भी लड़के से बात करने पर रोक लगा दी थी। इसके अलावा मेरे स्कूल में और ब्वॉयफ्रेंड के पेरेंट्स को भी इस बारे में बता दिया गया था। 19 साल की उम्र में टोरंटो आ जाने के बाद मैं काफी समय तक खुद को नए माहौल में ढाल नहीं पाई। मुझे होमसिकनेस थी। टोरंटो में भी किसी पाकिस्तानी लड़के के साथ घूमने में मुझे अजीब लगता था। लेकिन, फिर मुझे महसूस हुआ कि मुझे बदलना होगा और मैंने खुद को बदला। यहां बिल्कुल अलग तरह का माहौल था। कल्चर, वैल्यू और लोगों का माइंडसेट भी बिल्कुल अलग था। मुझे रिएलाइज हुआ कि मुझे अपने किसी भी फैसले के लिए शर्मिंदा नहीं होना चाहिए। फिर चाहे वो ब्वायफ्रेंड चुनना, सेक्स करना हो या कहीं भी बेफ्रिक होकर घूमना हो।

बहुत से पाकिस्‍तानी आने वाले समय में शादी से पहले सेक्‍स करेंगे क्‍योंकि सेक्‍स एजुकेशन एक दिन लागू होगी। अभी भी पाकिस्‍तान में जो लोग शादी से पहले संबंध बनाते हैं वे जरूरत से ज्‍यादा गर्भनिरोधक दवाएं लेते हैं। उन्‍हें इनकी खुराक के बारे में पता नहीं होता है। कई बार तो महिलाओं को गैर कानूनी गर्भपात कराना पड़ता है। क्‍योंकि इस्‍लाम में गर्भपात कराना हराम है। शायद हमें इस बात पर गंभीरता से विचार करना चाहिए कि पाकिस्‍तानी दुनिया के सबसे कामोत्तेजित लोग हैं। इस बात को टैबू मानना बंद करना चाहिए। हालांकि अब भी कई लोग ऐसा नहीं करेंगे। वे गुप्‍त और अनजान जगहों पर संबंध बनाते रहेंगे। मैं खुद को गश्‍ती(वेश्‍या) समझती रहती थी लेकिन लोग मेरे बारे में क्‍या कहते हैं इससे मुझे फर्क नहीं पड़ता। मैं एक ऐसी महिला बनना चाहती हूं जो लोग क्‍या कहते हैं इस पर ध्‍यान नहीं देती है। मैंने इस बदलाव का अपना लिया है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.