ताज़ा खबर
 

8 साल की उम्र में इस महिला के सिर से उठा गया था पिता का साया, एक कमरे से बिजनेस शुरू कर बनाए 6000 करोड़

हजारों करोड़ की संपत्ति कमाने वाली शिनोहारा की सफलता की कहानी आसान नहीं है, उन्होंने बहुत संघर्ष के बाद यह मुकाम हासिल किया है। शिनोहारा का जन्म 1934 में हुआ था और वह दूसरे विश्व युद्ध के दौरान बड़ी हुईं।

ये हैं जापान की पहली सेल्फ मेड महिला बिलेनियर योशिका शिनोहारा।

82 साल की योशिका शिनोहारा हाल ही में मे जापान की पहली अपने दम पर बिलियन डॉलर संपत्ति बनाने (सेल्फ मेड बिलेनियर) बनी हैं। करीब 40 साल पहले हाथ में हाई स्कूल की डिग्री और दो अलग-अलग महाद्वीपों में सचिवीय अनुभव के साथ उन्होंने टोक्यो के एक बेडरूम आपर्टमेंट में अपनी टेम्प स्टाफिंग कंपनी शुरू की थी। अब 82 साल की उम्र में शिनोहारा जापान की पहली सेल्फ मेड बिलेनियर महिला बनी हैं। फोर्ब्स के मुताबिक हाल ही में उन्होंने स्टाफिंग कंपनी टेम्प हॉल्डिंस (human resources and staffing service company) के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया। पिछले साल उनकी कंपनी का राजस्व 4.5 बिलियन डॉलर था। पिछले महीने उनकी कंपनी टेम्प होल्डिंस के शेयर के दाम 11.5 पर्सेंट बढ़ गए थे, जिसके बाद उनकी सम्पति की कीमत 1 बिलियन डॉलर (करीब 6 हजार करोड़ रुपए) के पार पहुंच गई है।

हजारों करोड़ की संपत्ति कमाने वाली शिनोहारा की सफलता की कहानी आसान नहीं है, उन्होंने बहुत संघर्ष के बाद यह मुकाम हासिल किया है। शिनोहारा का जन्म 1934 में हुआ था और वह दूसरे विश्व युद्ध के दौरान बड़ी हुईं। उनके पिता एक स्कूल मास्टर थे। जब योशिका की उम्र 8 साल की थी तभी उनकी मौत हो गई थी। जीवन चलाने के लिए उनकी मां को आया (Midwife) का काम करना पड़ा। उनकी मां ने उन्हें अकेले पाला लेकिन दोबारा शादी नहीं की। उन्होंने 8वीं क्लास तक पढ़ाई की और 20 साल की उम्र में उनकी शादी हो गई लेकिन जल्द ही उनका तलाक हो गया। इसके बाद जापान में रहने के बजाए उन्होंने 1960 के दशक के दौरान इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में नौकरी की।

रिपोर्ट के मुताबिक नौकरी के बाद शिनोहारा जापान वापस लौटीं और 1973 में उन्होंने अपने एक बेडरूम वाले अपार्टमेंट में छोटी सी वर्क एजेंसी शुरू की। शुरुआत में उनका बिजनेस धीमा था और बाद में उन्होंने अपने साथ काम करने वाली महिलाओं को अंग्रेजी सिखाना शुरू किया। 5 साल बाद उनका बिजनेस उनके नए ऑफिस में शिफ्ट हो गया। शुरुआत में शिनोहारा के साथ सिर्फ महिलाएं कार्यरत रहती थी। बाद में कंपनी की सेल्स गिरने लगी। शुरुआत के दिनों में कंपनी सारी टेम्पस महिलाएं ही थी।

Next Stories
1 65 साल के बिल्डर ने बनाया उल्टा घर, करना चाहते थे कुछ अलग, पत्नी ने बताया था पागल आइडिया
2 दक्षिण पूर्वी अमेरिका: तूफान से भीषण तबाही, दो दिन में 18 लोगों की मौत
3 अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पत्रकारों को बताया ‘बेईमान’
यह पढ़ा क्या?
X