ताज़ा खबर
 

दुनिया के दूसरे सबसे रईस शख्‍स नहीं करते आई-फोन का इस्‍तेमाल, जानिए क्‍यों

युवा लोगों को बफेट एक ही सलाह देते हैं कि क्रेडिट कार्ड्स से दूर रहो और खुद पर निवेश करो।

वारेन बफेट (Source: Reuters)

दुनिया के दूसरे सबसे रईस शख्स बर्कशायर हैथवे के वॉरेन बफेट के एेपल में शायर जरूर हैं, लेकिन वह आईफोन का इस्तेमाल नहीं करते। साल 2013 में सीएनएन को दिए एक इंटरव्यू में बफेट ने कहा था, जब तक मैं किसी चीज का 20 से 25 साल इस्तेमाल न कर लूं, तब तक उसे फेंकता नहीं हूं। इंटरव्यू में उन्होंने अपना पुराना नोकिया फ्लिप फोन दिखाते हुए कहा था, यही ग्राहम बेल ने मुझे दिया था। अपने मार्केट के समझबूझ के कारण ही वह चीजों से लंबे वक्त तक चिपके रहते हैं। वह कहते हैं अगर आप किसी स्टॉक को 10 साल तक अपने पास नहीं रख सकते तो उन्हें न खरीदें।

ई-मेल भी नहीं करते इस्तेमाल: आईफोन के अलावा बफेट ई-मेल भी इस्तेमाल नहीं करते। उन्होंने आज तक सिर्फ एक ही ई-मेल भेजा है। भले ही वह दुनिया के दूसरे सबसे रईस शख्स हों, लेकिन वह आज भी वैसे ही रहते हैं, जैसे वह पहले थे। ओमाहा में उनका तीन बेडरूम वाला छोटा सा घर है, जिसे उन्होंने 1958 में 31,500 अमेरिकी डॉलर में खरीदा था। साल 2014 तक बफेट आठ साल पुरानी कार्डिलैक में चलते थे। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, मैं साल में केवल 3500 मील यात्रा करता हूं, इसलिए जल्दी-जल्दी नई गाड़ियां खरीदकर क्या करूंगा। साल 2014 में जनरल मोटर्स के सीईओ ने उन्हें एक नई कार लेने के लिए मनाया था, जिसके बाद उन्होंने साल 2014 में कार्डिलैक एक्सटीएस खरीदी थी। हालांकि उनके पास एक प्राइवेट जेट है, लेकिन वह उसका इस्तेमाल बहुत जरूरी बिजनेस मीटिंग के लिए ही करते हैं।

बफेट की विश्वसनीयता इतनी है कि निवेशक उनके भाषण के हर शब्द को ध्यान से सुनते हैं। उन्हें ट्रेंड को तोड़ने के लिए भी जाना जाता है। वह इसलिए क्योंकि वह ट्रेंड से प्रभावित हुए बिना असली जिंदगी जीते हैं। युवा लोगों को बफेट एक ही सलाह देते हैं कि क्रेडिट कार्ड्स से दूर रहो और खुद पर निवेश करो।

ईटी की रिपोर्ट के मुताबिक आज यानी 6 मई को हजारों निवेशक अमेरिका के ओमाहो में मिलेंगे। बर्कशायर हैथवे की सालाना शेयरहोल्डर्स की मीटिंग, जिसे वुडस्टॉक अॉफ कैपिटलिजम कहा जाता है, में कंपनी के चेयरमैन वॉरेन बफेट निवेशकों को संबोधित कर उनके सवालों का जवाब देंगे। स्टॉक मार्केट में शानदार कामयाबी के कारण बफेट को ओमाहा का अॉरेकल कहा जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App