ताज़ा खबर
 

World Population Day 2018 Theme: दुनिया की बढ़ती आबादी पर क्या है विद्वानों की राय, जानिए

World Population Day 2018 Theme, Slogan, Images, Essay, History in Hindi (वर्ल्ड पॉपुलेशन डे थीम २०१८): मालूम हो कि विश्व जनसंख्या दिवस मनाए जाने का मकसद महज आबादी पर नियंत्रण पाना नहीं है। बल्कि यह दिवस अपने साथ एक व्यापक लक्ष्य समेटे हुए है।

Author नई दिल्ली | July 11, 2018 12:14 pm
विश्व जनसंख्या दिवस का एक अहम लक्ष्य कन्या भ्रूण हत्या को रोकना की दिशा में जागरुकता पैदा करना भी है।

World Population Day 2018 Theme, Slogan, Images, Essay, History in Hindi: हर साल 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इसे मनाए जाने के पीछे की मुख्य वजह यही है कि तेजी से बढ़ती जा रही आबादी की ओर दुनिया का ध्यान दिलाया जाए। बता दें कि विश्व जनसंख्या दिवस मनाए जाने की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम(यूएनडीपी) के जरिए हुई। साल 1989 में संयुक्त राष्ट्र की गवर्निंग काउंसिल के फैसले के अनुसार, विकास कार्यक्रम में यह तय किया गया कि हर साल 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस के रूप में मनाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि साल 1989 में दुनिया की आबादी पांच बिलियन के आस-पास पहुंच चुकी थी, जो दुनियाभर के बुद्धजीवियों के लिए सिरदर्द बनती जा रही थी। ऐसे में दुनिया की बढ़ती आबादी को रोकने की दिशा में यह कदम उठाया गया।

मालूम हो कि विश्व जनसंख्या दिवस मनाए जाने का मकसद महज आबादी पर नियंत्रण पाना नहीं है। बल्कि यह दिवस अपने साथ एक व्यापक लक्ष्य समेटे हुए है। जैसे कि युवाओं को उन आसान से उपायों के बारे में बताना जिनसे अवांछित गर्भधारण रोका जा सकता है। सुरक्षित यौन संबंध के बारे में लोगों को जानकारी देना। इसके साथ ही कम उम्र में होने वाली शादी के नुकसानों के बारे में गांव-गांव के लोगों को बताना। विश्व जनसंख्या दिवस का एक अहम लक्ष्य कन्या भ्रूण हत्या को रोकने की दिशा में जागरुकता पैदा करना भी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App