ताज़ा खबर
 

10 साल से कोमा में थी महिला, बच्‍चे को जन्‍म‍ दिया तो सब रह गए हैरान

घटना की की जानकारी तब हुई जब महिला की कराहने की आवाजें अस्पताल के कर्मियों ने सुनी, जिसके बाद जांच में महिला के गर्भवती होने का पता चला।

फिलहाल फीनिक्स पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अमेरिका के एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां पिछले 10 साल से ज्यादा वक्त से कोमा में चल रही एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया है। महिला अमेरिका के फीनिक्स स्थित एक अस्पताल में पिछले 10 साल से भी ज्यादा वक्त से भर्ती है। वहीं इस घटना के खुलासे के बाद हंगामा हो गया है और फीनिक्स के पुलिस विभाग ने इस मामले की जांच शुरु कर दी है। एजेडफैमिली डॉट कॉम की एक खबर के अनुसार, पीड़ित महिला फीनिक्स के हाकिएन्डा हेल्थकेयर फैसिलिटी में भर्ती थी, जहां पीड़िता ने बीती 29 दिसंबर को एक बेटे को जन्म दिया। गौरतलब बात ये है कि अस्पताल के स्टाफ को इस बात की जानकारी नहीं थी कि महिला गर्भवती है। इस बात की जानकारी तब हुई जब महिला की कराहने की आवाजें अस्पताल के कर्मियों ने सुनी, जिसके बाद जांच में महिला के गर्भवती होने का पता चला।

खबर के अनुसार, नवजात बच्चा स्वस्थ है। फिलहाल पुलिस अस्पताल स्टाफ से पूछताछ कर यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि महिला के गर्भवती होने के पीछे किसी अस्पताल कर्मी की तो कोई भूमिका नहीं है। पुलिस अस्पताल स्टाफ का डीएनए टेस्ट कर उसका बच्चे के डीएनए से मिलान करने पर भी विचार कर रही है। पीड़ित महिला की पहचान जाहिर नहीं की गई है। पुलिस ने अभी इस मामले में ज्यादा जानकारी देने से इंकार कर दिया है। वहीं इस घटना के बाद फीनिक्स के गवर्नर डग डुके ने इस पर गहरी चिंता जाहिर करते हुए अस्पताल में भर्ती मरीजों की सुरक्षा के लिए तुरंत कड़े कदम उठाने की बात कही है।

वहीं पीड़िता की वकील ताशा मेनाकेर ने भी अपने बयान में अस्पताल के पुरुष कर्मचारियों के डीएनए टेस्ट कराने की मांग की है, ताकि आरोपी के बारे में पता लगाया जा सके। पीड़िता एक दशक से भी ज्यादा वक्त से इस अस्पताल में भर्ती है, फिलहाल पुलिस पीड़िता के परिजनों का पता लगाने की कोशिश में जुटी है। घटना के सामने आने के बाद अमेरिका की सामाजिक सुरक्षा देने वाले विभाग स्टेट डिपार्टमेंट ऑफ इकॉनोमिक सिक्योरिटी ने इस मामले में हाकिएन्डा अस्पताल में मरीजों की सुरक्षा की समीक्षा करने की बात कही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App