ताज़ा खबर
 

80 के दशक में 200 रुपए में खरीदी थी हीरे की अंगूठी, नहीं पता थी असली कीमत, बेची तो 5.4 करोड़ मिले

महिला को नहीं पता था यह हीरे की अंगूठी है। महिला इसे एक सस्ती ज्वैलरी समझकर हर रोज पहना करती थी।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

दुनिया भर में इस समय सोना-चांदी और हीरे की कीमत आसमान छू रही है। ऐसे में क्या हो अगर आपको पता लगे कि घर में एक दशकों पुरानी अंगूठी है जिसकी कीमत करोड़ों रुपए में है। दरअसल ब्रिटेन में एक महिला ने 80 के दशक में अंगूठी खरीदी थी। सेल में खरीदी गई इस अंगूठी को उन्होंने 200 रुपए में खरीदा था। महिला को नहीं पता था यह हीरे की अंगूठी है। महिला इसे एक सस्ती ज्वैलरी समझकर हर रोज पहना करती थी। उन्होंने इसे वेस्ट मिडलसेक्स हॉस्पिटल की कार बूट सेल से खरीदा था। उन्हें नहीं पता था यह इतनी कीमती होगी।

Metro की रिपोर्ट के मुताबिक, बाद में पता लगा कि यह 26.27 कैरेट की एक डायमंड रिंग है, जिसकी कीमत 2.5 लाख से 3.5 लाख पौंड (करीब 2-2.9 करोड़ रुपए) के बीच है। इस अंगूठी की एक दिन पहले ही नीलामी की गई है। नीलामी में यह 6.5 लाख पौंड (करीब 5.4 करोड़ रुपए) में खरीदी गई। हालांकि इस डायमंड रिंग के इतिहास को लेकर अभी भी रहस्य बना हुआ है। अंगूठी की मालकिन ने कुछ महीने पहले सोचा था कि इस अंगूठी की कीमत का पता लगाया जाए। इसके लिए महिला ने ब्रिटिश मल्टिनेशनल कंपनी Sotheby से संपर्क किया। इसके बाद पता लगा कि एक अंगूठी असली हीरे की बनी है।

वहीं, 77Diamonds.com चलाने वाले हीरा उद्योग के विशेषज्ञ तोवियास कोरमिंड के मुताबिक यह अंगूठी पुरखों से मिली होगी। उन्होंने कहा, “यह 19वीं सदी की अंगूठी है जब वर्तमान हीरे की खानें नहीं मिल पाई थी या हीरा उपलब्ध ही नहीं था।” कई हीरा विशेषज्ञों ने इसकी जांच करके पता लगाने की कोशिश की कि इस एक हीरे से कितने मॉर्डन कट डायमंड बनाए जा सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App