ताज़ा खबर
 

लोगों को मारने की ताक में बैठे 8 आईएस आतंकियों पर जंगली सुअरों का हमला, तीन को मारा

इराक में जंगली सुअरों के एक झुंड ने हमले की ताक में बैठे इस्‍लामिक स्‍टेट के आतंकियों पर हमला बोल दिया और तीन को मार डाला।

इराक में जंगली सुअरों के एक झुंड ने हमले की ताक में बैठे इस्‍लामिक स्‍टेट के आतंकियों पर हमला बोल दिया और तीन को मार डाला।

इराक में जंगली सुअरों के एक झुंड ने हमले की ताक में बैठे इस्‍लामिक स्‍टेट के आतंकियों पर हमला बोल दिया और तीन को मार डाला। सुअरों के हमले में पांच आतंकी घायल हो गए। द टाइम्‍स ने स्‍थानीय लोगों के हवाले से यह रिपोर्ट दी है। बताया जाता है कि आतंकी हामरिन पहाडि़यों के करीब खेतों में सरकंडों में छुपे हुए थे। वे इस्‍लामिक स्‍टेट के विरोध में ब्रिगेड बनाने पर कबिलाई लोगों पर हमला करने की फिराक में थे।

एंटी आईएसआईएस बलों के सुपरवाइजर और स्‍थानीय उबैद क‍बीले के मुखिया शेख अनवर अल-असी ने बताया कि लगता है कि आतंकियों ने जंगली सुअरों को छेड़ दिया था। घटना के बाद आतंकियों के शव आईएस के अन्‍य लोग ले गए। साथ ही उन्‍होंने अब जंगली सुअरों को मारने का फैसला किया है। इस घटना से कुछ दिन पहले ही आईएस ने हाविजा शहर में 25 लोगों को मार दिया था। यह इलाका आईएस के गढ़ वाले क्षेत्र में आता है। बताया जाता है कि कई लोगों के शहर को छोड़ने के प्रयास के चलते लोगों को मारा गया। अल-असी ने बताया कि हाविजा में नरसंहार हुआ था। साथ ही ऐसा आखिर बार नहीं हुआ।

हाविजा शहर मोसुल से 100 मील दक्षिण में बगदाद जाने वाले रास्‍ते पर है। यहां से रोजाना दर्जनों लोग कुर्दिश बहुल किर्कुक जा रहे हैं। इराकी सेना हाविजा को आईएस से मुक्‍त कराने की तैयारी कर रही है। अमेरिका के समर्थन वाली सेनाओं ने पिछले साल अक्‍टूबर में मोसुल से आईएस आतंकियों को निकालने का अभियान शुरू किया था। इस साल जनवरी में पूर्वी मोसुल को आजाद करा लिया गया था। 25 अप्रैल को इराकी सेना ने दावा किया कि उसने अल तानेक पर नियंत्रण कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App