ताज़ा खबर
 

VIDEO: 2010 में जिसने पूरे अमेरिका में मचा दी थी खलबली, घसीट कर अरेस्‍ट किए गए जूलियन असांजे

ब्रिटिश सरकार ने असांजे की गिरफ्तारी को ब्रिटेन और इक्वाडोर के बीच व्यापक वार्ता का परिणाम बताया है। ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद ने ट्विटर पर कहा, ‘असांजे को अब ब्रिटेन में मुकदमे का सामना करना होगा।’

विकिलीक्स के सह-संस्थापक जूलियन असांजे। ((File/Reuters))

विकिलीक्स के सह-संस्थापक जूलियन असांजे को सात साल के बाद लंदन स्थित इक्वाडोर दूतावास से गिरफ्तार कर लिया गया। दक्षिण अमेरिकी देश ने असांजे को दी गई शरण को वापस ले लिया, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने असांजे की गिरफ्तारी की पुष्टि की। यौन उत्पीड़न के एक मामले में स्वीडन में प्रत्यर्पित किए जाने से बचने के लिए असांजे ने दूतावास को अपना ठिकाना बना रखा था। पुलिस ने कहा कि असांजे को वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के समक्ष पेश किया जाएगा। असांजे को मध्य लंदन के एक पुलिस थाने में हिरासत में लिया गया है। वहीं विकिलीक्स ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि इक्वाडोर ने अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करते हुए असांजे को दी गई राजनीतिक शरण को अवैध रूप से खत्म कर दिया। ब्रिटिश पुलिस को दूतावास में बुलाया गया और उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया। दूसरी ओर इक्वाडोर के राष्ट्रपति मोरेनो ने कहा कि असांजे को मौत की सजा के प्रावधान वाले देश में प्रत्यर्पित नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि असांजे को ऐसी किसी भी देश में प्रत्यर्पित नहीं किया जाएगा, जहां उसे यातना या मौत की सजा का सामना करना पड़े।

ब्रिटिश सरकार ने असांजे की गिरफ्तारी को ब्रिटेन और इक्वाडोर के बीच व्यापक वार्ता का परिणाम बताया है। ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद ने ट्विटर पर कहा, ‘असांजे को अब ब्रिटेन में मुकदमे का सामना करना होगा।’ इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो ने कहा कि देश ने असांजे को दी गई शरण को वापस ले लिया है। 47 वर्षीय असांजे पर आरोप है कि उन्होंने अमेरिका से संबंधित गोपनीय दस्तावेजों को सार्वजनिक किया था। यौन उत्पीड़न और बलात्कार के आरोपों में स्वीडिश अधिकारी उनसे पूछताछ करना चाहते थे, जिसके बाद असांजे ने दूतावास में शरण मांगी थी। इक्वाडोर के राष्ट्रपति मोरेनो ने सोशल मीडिया पर जारी एक वीडियो संदेश में कहा, ‘मैंने ग्रेट ब्रिटेन से इस बात की गारंटी मांगी है कि असांजे को किसी भी ऐसे देश में प्रर्त्यिपत नहीं किया जाएगा जहां यातना या मौत की सजा दी जा सकती है।’ उन्होंने कहा, ‘ब्रिटिश सरकार ने लिखित में इसकी पुष्टि की है।’

वर्ष 2010 में असांजे पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली एक स्वीडिश महिला की वकील ने कहा कि वह और उनकी मुवक्किल स्वीडिश अभियोजकों से जांच को फिर किए जाने के लिए कहेंगे। यह जांच 2017 में बंद कर दी गई थी। रूस ने असांजे को ब्रिटेन में गिरफ्तार किए जाने की निंदा करते हुए इस कदम को लोकतांत्रिक स्वतंत्रता के खिलाफ एक कदम बताया और ब्रिटेन से उनके अधिकारों का सम्मान किए जाने का आह्नान किया। भगोड़े अमेरिकी व्हिसलब्लोअर एडवर्ड स्रोडेन ने असांजे को गिरफ्तार किए जाने की निंदा करते हुए इसे प्रेस की स्वतंत्रता के लिए एक काला दिन बताया है। अमेरिकी सरकार की व्यापक सर्विलांस गतिविधियों के बारे में मीडिया को हजारों दस्तावेजों के लीक होने के बाद 2013 में स्रोडेन रूस भाग गए थे। असांजे ने 2010 में बड़ी संख्या में अमेरिकी गोपनीय दस्तावेजों को सार्वजनिक किया था। असांजे ने स्वीडन में प्रत्यर्पण से बचने के लिए 2012 में इक्वाडोर के दूतावास में शरण ली थी। बाद में स्वीडन ने असांजे पर से यौन अपराध से जुड़े मामले को हटा दिया। इसके बावजूद असांजे दूतावास में ही बने रहे, क्योंकि जमानत का मामला खत्म हो जाने की वजह से लंदन में उनपर गिरफ्तारी की तलवार लटकी रही थी। बीते साल 12 दिसंबर से उन्हें इक्वाडोर की नागरिकता मिली।

असांजे ने वर्ष 2006 में विकिलीक्स डॉट ओआरजी की शुरुआत की, ताकि बिना ट्रेस हुए वह इंटरनेट पर एक मुखबिर के तौर पर संवेदनशील दस्तावेज पोस्ट कर सकें। चार साल बाद स्वीडन की दो महिलाओं ने असांजे पर बलात्कार और यौन शोषण के आरोप लगाए और उनके खिलाफ स्वीडन ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया। वर्ष 2010 में विकिलीक्स ने बड़ी संख्या में सेना से जुड़े अमेरिकी गोपनीय दस्तावेजों को जारी कर दिया। इसके अलावा असांजे ने अफगानिस्तान और इराक युद्ध से जुड़े दस्तावेजों को भी सार्वजनिक किया, जिसके बाद अमेरिका में असांजे को बहिष्कृत कर दिया गया।

वर्ष 2012 में ब्रिटेन द्वारा स्वीडन प्रत्यर्पित किए जाने से बचने के लिए उन्होंने इक्वाडोर के दूतावास से शरण की गुहार लगाई और तब से लंदन में शरणार्थी के तौर पर रह रहे थे। वर्ष 2016 में विकिलीक्स ने डेमोक्रेट हिलेरी क्लिंटन की टीम द्वारा अमेरिकी चुनाव अभियान में भेजे गए 20,000 हैक किए ईमेल सार्वजनिक कर दिए। स्वीडन ने 2017 में उनके खिलाफ बलात्कार से जुड़े अपराध को हटा लिया था। इसके बाद असांजे ने इक्वाडोर की नागरिकता ले ली। वर्ष 2018 में उनके वकील ने दूतावास में उनके रहने की परिस्थितियों को अमानवीय बताया। 2019 में इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो ने कहा कि असांजे ने अपने शरणस्थल के नियमों का उल्लंघन किया है। अब ब्रिटेन की पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है और उनकी शरण के खत्म होने का हवाला दिया है।

वर्ष 2010 में विकिलीक्स ने बड़ी संख्या में सेना से जुड़े अमेरिकी गोपनीय दस्तावेजों को जारी कर दिया। इसके अलावा असांजे ने अफगानिस्तान और इराक युद्ध से जुड़े दस्तावेजों को भी सार्वजनिक किया, जिसके बाद अमेरिका में असांजे को बहिष्कृत कर दिया गया। वर्ष 2012 में ब्रिटेन द्वारा स्वीडन प्रत्यर्पित किए जाने से बचने के लिए उन्होंने इक्वाडोर के दूतावास से शरण की गुहार लगाई और तब से लंदन में शरणार्थी के तौर पर रह रहे थे। वर्ष 2016 में विकिलीक्स ने डेमोक्रेट हिलरी क्लिंटन की टीम द्वारा अमेरिकी चुनाव अभियान में भेजे गए 20,000 हैक किए ईमेल सार्वजनिक कर दिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App