ताज़ा खबर
 

दुबई के अरबपति शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम की पत्नी प्रिंसेस हाया ने छोड़ा देश, साथ ले गईं बच्चे और करोड़ों डॉलर!

दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम की पत्नी प्रिंसेस हाया ने नाटकीय रूप से अपने पति को छोड़ दिया है। राजकुमारी हाया नई जिंदगी की शुरुआत के लिए अपने साथ 5.6 करोड़ डॉलर भी लेकर गईं।

Author नई दिल्ली | Updated: July 1, 2019 9:23 AM
प्रिंसेस हाया अपने पति से तलाक लेना चाहती हैं। (फोटोः princesshaya.net)

दुबई के करोड़पति शासक की पत्नी प्रिंसेस हाया बिंत अल हुसैन अपने पति को छोड़कर संयुक्त अरब अमीरात से भाग गई हैं। खबर है कि वे अपने दोनों बच्चों के साथ ही 5.6 करोड़ अमेरिकी डॉलर भी ले गई हैं। बताया जा रहा है कि वह अब अपनी नई जिंदगी शुरू करेंगी। प्रिंसेस हाया दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम की छठी बीवी हैं।

‘द सन’ की रिपोर्ट के अनुसार वह अपने 7 साल के बेटे जायद और 11 साल की बेटी अल जलीला के साथ जर्मनी चली गई हैं। यहां उन्होंने राजनीतिक शरण दिए जाने का आग्रह किया है। बताया जा रहा है कि शेख ने बर्लिन में अधिकारियों से अपने पत्नी और बच्चों को वापस भेजने को कहा है। हालांकि, बर्लिन प्रशासन की तरफ से इससे इनकार कर दिया गया है।

मीडिया की अपुष्ट रिपोर्टों में यह बात सामने आई है कि प्रिंसेस हाया को दुबई से बाहर निकलने में एक जर्मन राजनयिक ने मदद की। इस घटना के बाद से दोनों देशों के बीच संभावित राजनीतिक संकट पैदा हो सकता है। प्रिंसेस हाया ने अपने एक दोस्त को बताया कि उसने जर्मनी को इसलिए चुना क्योंकि उसे ब्रिटेन के अधिकारियों पर भरोसा नहीं था।

प्रिंसेस हाया जॉर्डन के किंग अब्दुल्ला की सौतेली बहन हैं। बताया जा रहा है कि उन्होंने उपाध्यक्ष और दुबई के प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिल राशिद अल-मकतूम से तलाक मांगा है। ऑक्सफोर्ड से पढ़ाई करने वाली प्रिंसेस हाया 20 मई के बाद सार्वजनिक रूप से दिखाई नहीं दी हैं।

वे आमतौर पर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपने चैरिटेबल वर्क से जुड़ी तस्वीरें साझा करती रहती थीं। अभी कुछ समय पहले ही शेख की बेटी प्रिंसेस लतीफा ने भी अपने पिता को छोड़कर दुबई से भागने का प्रयास किया था। हांलाकि, उसे भारतीय तट के पास पकड़ लिया गया था। इसके बाद से वह दिखाई नहीं दी है। माना जा रहा है कि उसे दुबई में ही बंधक बना कर रखा गया है। मानवाधिकार से जुड़े लोग प्रिंसेस हाया के देश छोड़कर भागने की घटना को काफी ‘गंभीर मुद्दा’ बता रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पहली बार उत्तर कोरिया की धरती पर पड़े अमेरिकी राष्ट्रपति के पैर, डोनाल्ड ट्रम्प ने मिलाए किम जोंग उन से हाथ
2 डोनाल्ड ट्रम्प और शी जिनपिंग के बीच बैठक, अमेरिका-चीन व्यापार वार्ता फिर शुरू करने पर सहमत
3 G20 summit: भ्रष्टाचार और भगोड़े आर्थिक अपराधी के मुद्दे को ओसाका घोषणापत्र में शामिल कराना चाहता है भारत, पीएम मोदी पहले भी कर चुके हैं वकालत
जस्‍ट नाउ
X