ताज़ा खबर
 

2005 में हुई थी सऊदी अरब के राजा की मौत, विधवा को अब मिला 263 करोड़ का बंगला

सऊदी अरब के राजा की मृत्यु के 13 साल बाद विधवा रानी को लंदन की सबसे महंगी सड़कों में से एक पर स्थित बंगला मिला है। यह बंगला उन्हें कानूनी लड़ाई में जीत के बाद मिला है।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

सऊदी अरब के राजा फहद बिन अब्दुलजाज अल-सऊद की एक विधवा को लंदन की सबसे महंगी सड़कों में से एक पर स्थित बंगला मिला है। यह बंगला उन्हें राजा के मौत के 13 साल बाद कानूनी लड़ाई में जीत के बाद मिला है। बंगले की कीमत करीब 263 करोड़ रुपया है। राजा की विधवा को बंगला मिलने का रास्ता उस समय साफ हुआ जब ब्रिटेन के एक न्यायाधीश ने विधवा के खिलाफ पारिवारिक संगठन के दावे को खारिज कर दिया। मंगलवार (11 सितंबर) को डिप्टी मास्टर एडवर्ड क्यूजन ने एस्टुरियन फाउंडेशन द्वारा मुकदमे में फैसला सुनाया। बता दें कि एस्टुरियन फाउंडेशन फहद बिन अब्दुलजाज परिवार की वैश्विक संपत्ति का प्रबंधन करता है।

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, एस्टुरियन फाउंडेशन द्वारा 2015 में मुकदमा दायर कर इंग्लैंड की राजधानी लंदन के समृद्ध हाईगेट नेवरहुड में केनस्टेड हॉल के मालिकाना हक का दावा किया था। 2011 में फाउंडेशन से राजा फहद की विधवा अल जवाहरह बिन इब्राहिम अब्दुलजाज अल इब्राहिम को अवैध तरीके से अलग कर दिया गया था। इस मुकदमे की सुनवाई के बाद न्यायाधीश ने अपने फैसले में कहा, “यह प्रक्रिया के दुरुपयोग के आधार पर दावा पूरी तरह से खत्म करने का मामला है।” उन्होंने कहा कि मामला दर्ज करने के बाद फाउंडेशन में “लंबी अवधि तक निष्क्रियता” बनी रही। फैसले के बाद एस्टुरियन के वकील ग्राहम शीयर ने कहा कि फाउंडेशन फैसले को चुनौति देने की कोशिश करेगी। शीयर ने ईमेल द्वारा कहा, “हम उप मास्टर के फैसले से सहमत नहीं हैं और हम निश्चित रूप से फाउंडेशन की ओर से अपील करने की अनुमति मांगेंगे।” वहीं, अल इब्राहिम के वकील ने तुरंत टिप्पणी नहीं की।

मुकदमा सऊदी शाही परिवार के भीतर विरासत विवाद में एक दुर्लभ कहानी बयां करती है, जो कि संपत्ति के मामले को लेकर काफी सख्त होता है और आंतरिक विवाद को निजी रखता है। अल इब्राहिम को राजा फहद की पसंदीदा पत्नी माना जाता था। हालांकि शाही परिवार की अन्य लोगों ने राजा सलमान और उनके बेटे क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के पास केंद्रीकृत शक्ति को भी देखा है।

लंदन कोर्ट के फैसले इस बारे में कुछ नहीं कहता कि एस्टुरियन फाउंडेशन को किसके नियंत्रण में है। यूके लैंड रजिस्ट्री के दस्तावेजों के मुताबिक 2011 में इस घर की कीमत 28 मिलियन पाउंड (36.4 मिलियन डॉलर यानि करीब 263 करोड़ रुपये) थी। यह बिशप एवेन्यू पर है, जिसे उत्तरी लंदन में “बिलेनॉयर क्यू” के नाम से जाना जाता है। वेबसाइट जूप्ला पर यह संपत्ति 10 बेडरूम वाले घर के रूप में लिस्टेड है। मामला यूके उच्च न्यायालय में एस्टुरियन फाउंडेशन बनाम अलजावाड़ा बिंट इब्राहिम अब्दुलजाज अल इब्राहिम  के बीच है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App