ताज़ा खबर
 

पिता की मौत के बाद राजनीति में उभरी थीं बिद्या देवी भंडारी, अब बनीं नेपाल की पहली महिला राष्‍ट्रपति

बिद्या देवी का जन्‍म भोजपुर जिले के गुरांसे गांव में 19 जून 1961 को हुआ था। उन्‍होंने 1970 में राजनीतिक जीवन की शुरुआत वामपंथी विचारधारा के साथ की थी।

Author काठमांडू | October 28, 2015 7:02 PM
नेपाल की पहली महिला राष्‍ट्रपति बनने के बाद समर्थकों का धन्‍यवाद करतीं बिद्या देवी भंडारी।

सत्तारूढ़ सीपीएन-यूएमएल की नेता बिद्या देवी भंडारी नेपाल की पहली महिला राष्‍ट्रपति चुनी गई हैं। उन्‍होंने विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस के नेता कुल बहादुर गुरुंग और नेपाल वर्कर्स एंड पीजेंट्स पार्टी के उम्‍मीदवार नारायण महाराजन को हराया है। बिद्या देवी भंडारी मौजूदा राष्‍ट्रपति राम बरन यादव की जगह लेंगी। नेपाल में गणतंत्र घोषित होने के बाद यादव 2008 में पहले राष्ट्रपति चुने गए थे। बीते 20 सितंबर को देश का नया संविधान लागू होने के साथ संसद सत्र शुरू होने के एक महीने के भीतर नए राष्‍ट्रपति का चुनाव किया जाना था। बुधवार को चुनाव हुआ और ऐतिहासिक परिणाम आए। नेपाल को पहली महिला राष्‍ट्रपति मिल गईं, तो आइये जानते हैं कि कौन हैं बिद्या देवी भंडारी?

बिद्या देवी का जन्‍म भोजपुर जिले के गुरांसे गांव में 19 जून 1961 को हुआ था। उन्‍होंने 1970 में राजनीतिक जीवन की शुरुआत वामपंथी विचारधारा के साथ की थी। 1980-81 में वह सीपीएन-एमएल की सदस्‍य बनीं, जिसे आज हम सीपीएन-यूएमएल के नाम जानते हैं। यही पार्टी आज नेपाल में सत्‍तारूढ़ है। बिद्या देवी के पिता मदन कुमार सीपीएन-एमएल के महासचिव पद पर भी रह चुके हैं। मदन कुमार ने नेाल में कम्‍युनिस्‍ट मूवमेंट को नई ऊंचाई पर पहुंचाया, लेकिन 16 मई 1993 में एक कार हादसे में उनकी मौत हो गई। हालांकि, बहुत से लोगों का मानना है कि उनकी हत्‍या की गई थी।

पिता की मृत्‍यु के बाद बिद्या देवी ने उपचुनाव लड़ा और पूर्व प्रधानमंत्री कृष्‍ण प्रसाद भट्टाराई को हरा दिया। भट्टाराई नेपाली कांग्रेस के नेता थे। वह एक साल तक सांसद रहीं। बिद्या देवी 1994 और 1999 के आम चुनाव में भी लड़ीं और काठमांडू-2 सीट से जीतीं। 1994 के आम चुनाव में उन्‍होंने नेपाली कांग्रेस के दमन नाथ धुनगना को हराया था, जो कि स्‍पीकर के पद पर आसीन थे। बिद्या देवी 2006 के जनांदोलन के बाद गठित इंटरिम पार्लियामेंट की भी सदस्‍य रहीं।

बिद्या देवी भंडारी नेपाल सरकार में कई अहम पदों पर भी रह चुकी हैं। 1990 में उन्‍होंने एनवायरमेंट और पॉपुलेशन मिनिस्‍टर का कार्यभार संभाला था। वह 25 मई 2009 से 6 फरवरी 2011 तक माधव कुमार नेपाल की सरकार में रक्षा मंत्री का पद भी चुकी हैं। इतना ही नहीं, बिद्या ने पार्टी के ही संगठन ऑल नेपाल वुमन एसोसिएशन को करीब दो दशक तक संभाला।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, गूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App