ताज़ा खबर
 

पुतिन ने कहा, रूस को कमजोर करने के लिए अमेरिका की साजिश है Panama Papers

राष्ट्रपति ने कहा कि उन्हें रोल्डुगिन पर गर्व है, जिसने अपना व्यक्तिगत धन सांस्कृतिक परियोजनाओं पर खर्च कर दिया है।

Author सेंट पीट्सबर्ग | April 8, 2016 1:35 PM
पुतिन ने इन आरोपों को अमेरिका द्वारा रूस की सरकार को कमजोर करने के लक्ष्य से देश के खिलाफ चलाया जा रहा फर्जी सूचना अभियान करार दिया। (Source:AP)

रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन ने विदेशों में कोई भी खाता होने से शुक्रवार को इनकार करते हुए पनामा पेपर्स दस्तावेज लीड कांड को रूस को कमजोर करने के अमेरिकी षड्यंत्र का हिस्सा बताया। पुतिन ने अपने संगीतकार मित्र, जिनपर विदेश में कंपनी चलाने का आरोप है, का बचाव करते हुए उन्हें परमार्थ कार्य करने वाला ऐसा व्यक्ति बताया जो रूस के सरकारी संग्रह के लिए दुर्लभ वाद्य यंत्र खरीदता है। सेंट पीट्सबर्ग में मीडिया फोरम में बातचीत करते हुए पुतिन ने कहा कि पश्चिमी मीडिया ने विदेशी व्यावसाय में उनका नाम होने का दावा किया, जबकि पनामा पेपर्स लीक के किसी भी दस्तावेज में उनका नाम कहीं नहीं है।

पुतिन ने इन आरोपों को अमेरिका द्वारा रूस की सरकार को कमजोर करने के लक्ष्य से देश के खिलाफ चलाया जा रहा फर्जी सूचना अभियान करार दिया। उन्होंने कहा, ‘‘वे हमें अंदरूनी तौर पर अस्थिर करना चाहते हैं ताकि हमें और नरम कर सकें।’’

वाशिंगटन स्थित ‘इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट’ ने कहा है कि उसे जो दस्तावेज मिले हैं, वह संकेत करते हैं कि संगीतकार सेरगी रोल्डुगिन पुतिन के वफादारों और संभवत: स्वयं राष्ट्रपति के लिए मुखौटे के रूप में काम कर रहे थे। इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट का कहना है कि दस्तावेज दिखाते हैं कि कैसे एक जटिल विदेशी वित्तीय सौदे के माध्यम से दो अरब डॉलर रूसी राष्ट्रपति से जुड़े लोगों तक पहुंचा है। पुतिन ने कहा कि रोल्डुगिन, जो पुराने मित्र हैं, ने कुछ गलत नहीं किया।

राष्ट्रपति ने कहा कि उन्हें रोल्डुगिन पर गर्व है, जिसने अपना व्यक्तिगत धन सांस्कृतिक परियोजनाओं पर खर्च कर दिया है। उन्होंने कहा, रूसी कंपनी में अपनी छोटी सी हिस्सेदारी से रोल्डुगिन जो धन कमाते हैं, उसका प्रयोग कर वह दुर्लभ वाद्य यंत्र खरीदते हैं और उन्हें रूस को सौंप देते हैं। पुतिन ने दलील दी कि अमेरिका में मास्को को कमजोर करने के लिहाज से रूसी प्रशासन में भ्रष्टाचार की बात फैलायी है, क्योंकि रूस की बढ़ती आर्थिक और सैन्य शक्ति से अमेरिका चिंतित है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X