ताज़ा खबर
 

VIDEO: चीन में अब चली 450 मीटर लंबी बुलेट ट्रेन, 350 किमी/घंटे की रफ्तार ही नहीं, हैं कई और खासियतें

तीनों ट्रेनें देश में चल रही ट्रेनों के मुकाबले लंबी हैं। खास बात है कि इनमें 16 बोगियां हैं, जबकि कि वर्तमान में चल रही ट्रेनों में सिर्फ आठ बोगियां ही हैं। नई हाई स्पीड ट्रेनों को देश में ही तैयार किया गया है।

चीन में यूं हवा से बात करती है नई बुलेट ट्रेन। (फोटोः शिन्हुआ)

चीन में अब 450 मीटर लंबी बुलेट ट्रेनें चल गई हैं। रविवार (एक जुलाई) को बीजिंग-शंघाई रेलवे लाइन पर इन्हें उतारा गया। तीनों नई ट्रेनें न सिर्फ 350 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भागती हैं, बल्कि ढेर सारी खासियतें समेटे हुए हैं। पुरानी हाई स्पीड ट्रेनों के मुकाबले इनमें दोगुनी संख्या में यात्री सफर कर सकेंगे। साथ ही इनकी सर्विस लाइफ भी पहले से बेहतर बताई जा रही है। वहीं, जापान में भी हेलो किटी थीम वाली बुलेट ट्रेनें चलाई गई हैं।

तीनों ट्रेनें देश में चल रही ट्रेनों के मुकाबले लंबी हैं। खास बात है कि इनमें 16 बोगियां हैं, जबकि कि वर्तमान में चल रही ट्रेनों में सिर्फ आठ बोगियां ही हैं। नई हाई स्पीड ट्रेनों को देश में ही तैयार किया गया है। पहले की तुलना में इनमें अधिक जगह होगी और ये कम ऊर्जा की खपत भी करेंगी। रिपोर्ट्स के अनुसार, इनमें लगभग 1200 यात्री एक समय पर यात्रा कर सकेंगे।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 32 GB Black
    ₹ 41990 MRP ₹ 50810 -17%
    ₹6000 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 8925 MRP ₹ 11999 -26%
    ₹446 Cashback

चाइना अकैडमी ऑफ रेलवे साइंसेज के चीफ इंजीनियर जाहो हॉन्गवेई ने बताया कि ये ट्रेनें पहले के मुकाबले लंबी होने के साथ परफॉर्मेंस के मामले में भी काफी बेहतर साबित होंगी। आपको बता दें कि चीन ने पिछले दशक में अपने हाई स्पीड रेल नेटवर्क का तेजी के साथ विकास किया है। वर्तमान में चीन का रेल नेटवर्क दुनिया में सबसे लंबा और तेज गति वाला रेल नेटवर्क माना जाता है।

उधर, हेलो किटी थीम वाली हाई स्पीड ट्रेन शनिवार को ओसाका और फूकोउका के बीच चलाई गईं। ये इस साल सितंबर के अंत तक जापान के पश्चिमी और दक्षिणी इलाके को जोड़ने वाले रूट पर दौड़ेंगी। बाहर से गुलाबी रंग की दिखने वाली इस ट्रेन के अंदर बिल्ली वाले खूबसूरत कार्टून बने हैं।

साल 1974 में आई हैलो किटी कार्टून थीम दुनिया भर के लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र रही थी। जापानी कंपनी सैनरियो ने इसे बनाया था। ट्रेन की फ्लोरिंग, सीटों, उनके कवर और खिड़कियों तक को गुलाबी व सफेद रंग से सजाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App