ताज़ा खबर
 

VIDEO: पाकिस्‍तान में दो हिंदू लड़कियों का अपहरण, जबरन धर्मांतरण, पिता धरने पर बैठा, सुषमा ने मांगी रिपोर्ट

इस घटना के विरोध में इलाके के हिंदू समुदाय ने विरोध प्रदर्शन भी किया। अपह्त लड़कियों के भाई ने इसकी शिकायत पुलिस में की है। भाई का आरोप है कि पुलिस इस मामले में लगातार बयान बदल रही है।

अपह्त लड़कियों का पिता (बाएं) विदेश मंत्री सुषमा स्वराज। (image source-twitter/video grab image/file pic)

पाकिस्तान में दो हिंदू लड़कियों के अपहरण और जबरन धर्मांतरण का मामला सामने आया है। दोनों लड़कियों को होली वाले दिन उनके घर से हथियारों के बल पर अपहरण कर लिया गया था। अपह्त लड़कियों के पिता की एक वीडियो सामने आयी है, जिसमें वह खुद को गोली मार देने की बात करते हुए रोते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहा है। वहीं भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग से मामले की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। सुषमा स्वराज ने एक ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। अपने ट्वीट के साथ सुषमा स्वराज ने इस घटना से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट्स भी टैग की हैं। वहीं डीएनए इंडिया डॉट कॉम के हवाले से खबर आयी है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी पंजाब सीएम को दोनों अपह्त लड़कियों को ढूंढने के निर्देश दिए हैं।

क्या है मामलाः रिपोर्ट्स के अनुसार, पाकिस्तान के सिंध प्रांत में स्थित घोटकी जिले के धारकी कस्बे में यह घटना घटी। बताया जा रहा है कि होली की शाम को कुछ हथियारबंद लोग एक हिंदू परिवार के घर में घुसे और उनकी दो बेटियों रवीना और रीना का अपहरण कर ले गए। बाद में एक वीडियो सामने आया, जिसमें दोनों लड़कियों का निकाह कराया जा रहा है और एक अन्य वीडियो में दोनों लड़कियां कहती दिखाई दे रही हैं कि उन्होंने अपनी मर्जी से इस्लाम धर्म कबूल किया है। इस घटना के विरोध में इलाके के हिंदू समुदाय ने विरोध प्रदर्शन भी किया। अपह्त लड़कियों के भाई ने इसकी शिकायत पुलिस में की है। भाई का आरोप है कि पुलिस इस मामले में लगातार बयान बदल रही है।

पाकिस्तान सरकार में मंत्री फवाद चौधरी ने इस मामले में अपने एक बयान में कहा है कि प्रधानमंत्री ने पंजाब के सीएम को तुरंत इस मामले में कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। जिन हिंदू लड़कियों का अपहरण किया गया, खबरों के अनुसार, वह इस समय रहीम यार खान में हैं। प्रधानमंत्री ने कहा है कि अगर ये मामला है तो लड़कियों को तुरंत ढूंढा जाए। साथ ही पीएम ने भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए एक रणनीति बनाने के भी निर्देश दिए हैं। पाकिस्तान में इस तरह जबरन धर्मांतरण को रोकने के लिए कानून वहां की संसद में विचाराधीन है, लेकिन अभी तक यह कानून पास नहीं हो सका है। बता दें कि पाकिस्तान में आए दिन अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों पर अत्याचार और जबरन धर्मांतरण जैसे मामले सामने आते रहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App