ताज़ा खबर
 

VIDEO: राष्ट्रपति पर ड्रोन से आतंकी हमला, यूं एक्शन में आए कमांडोज

इस घटना के बाद सरकारी टीवी पर शनिवार की रात अपने संबोधन में मदुरो ने कहा, "दुनिया में मेरे सभी दोस्तों, मैं ठीक हूं, मैं जीवित हूं।"

Author August 6, 2018 12:37 PM
राष्ट्रपति मदुरो ने इस हत्या के प्रयास के लिए चरमपंथी गुटों और कोलंबिया के निवर्तमान राष्ट्रपति जुआन मैनुअल सांतोस को जिम्मेदार ठहराया है। (फोटो सोर्स रॉयटर्स)

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदुरो ने कहा है कि विस्फोटकों वाले ड्रोनों के हमले में उन्हें जान से मारने की कोशिश की गई। राष्ट्रपति मदुरो ने इस हत्या के प्रयास के लिए चरमपंथी गुटों और कोलंबिया के निवर्तमान राष्ट्रपति जुआन मैनुअल सांतोस को जिम्मेदार ठहराया है। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने कहा कि ‘राष्ट्रपति के खिलाफ आतंकवादी हमले का यह प्रयास’ शनिवार शाम को उस वक्त हुआ जब मदुरो बोलीविया नेशनल गार्ड की 81वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्हें तुरंत मंच से उतारकर सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया। घटना का एक वीडियो भी सामने आया है। इसमें राष्ट्रपति जब कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे तभी अचानक एक धमाका हुआ है। निकोलस मदुरो की सुरक्षा में तैनात कमांडोज ने तुरंत खतरे को भांप लिया और मुस्तैद हो गए। कंमाडोज राष्ट्रपति के चारों और फैल गए और बुलेट प्रूफ चादर से उन्हें कवर कर लिया।

वहीं संचार मंत्री जॉर्ज रोड्रिगेज ने कहा कि मदुरो अपने भाषण में देश को आर्थिक सुधार की तरफ ले जाने की बात कर रहे थे, उसी समय मंच के पास ही विस्फोटकों से भरे दो ड्रोन में विस्फोट हुआ। इस घटना की तस्वीरों में अंगरक्षक मदुरो के सामने कूदकर आते दिख रहे है और एक वर्दीधारी अधिकारी अपने सिर से बह रहे खून को दबाए हुए दिख रहा है। वीडियो में राष्ट्रपति की पत्नी सीलिया फ्लोरस डरी हुई दिख रही हैं। इस घटना के बाद सरकारी टीवी पर शनिवार की रात अपने संबोधन में मदुरो ने कहा, “दुनिया में मेरे सभी दोस्तों, मैं ठीक हूं, मैं जीवित हूं।” उन्होंने कहा, “एक उड़ती हुई चीज मेरे सामने फटी। बहुत बड़ा धमाका था। कुछ सेकंड बाद दूसरा विस्फोट हुआ।” उन्होंने कहा कि शुरुआत में उन्होंने सोचा कि विस्फोट पटाखे के हैं, जो परेड का हिस्सा हैं।

मदुरो ने कहा कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है। इसमें शामिल कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उनके आरोप तय किए गए हैं। हालांकि, उन्होंने उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों का उल्लेख नहीं किया। मदुरो ने कहा, “प्रारंभिक जांच से संकेत मिलता है कि हमले के लिए जिम्मेदार बहुत से लोग, इसके लिए आर्थिक मदद देने वाले व इसके योजनाकार अमेरिका के फ्लोरिडा राज्य में रहते हैं।” मदुरो ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि अमेरिका का (राष्ट्रपति डोनाल्ड) ट्रंप प्रशासन उन आतंकवादी समूहों से निपटने के लिए तैयार है, जो हमारे महाद्वीप में शांतिपूर्ण देशों पर हमला करते हैं, इस मामले में उन्होंने वेनेजुएला में किया है।”

हमले के लिए कोलंबिया को जिम्मेदार ठहराते हुए मदुरो ने कहा, “सभी जांचे कोलंबिया की तरफ संकेत दे रही हैं। उन्होंने मेरी हत्या का प्रयास किया।” वेनेजुएला सरकार लंबे समय से कोलंबिया पर तख्ता पलट की साजिश रचने का आरोप लगाती रही है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कोलंबिया सरकार ने कहा कि मदुरो के आरोपों का कोई आधार नहीं है। कोलंबिया के राष्ट्रपति कार्यालय के एक सूत्र ने बोगोटा में मीडिया से कहा, “यह निराधार है। राष्ट्रपति सांतोस विदेशी सरकारों का तख्ता पलटने में नहीं बल्कि अपनी पोती सेलेस्टे के बैप्टिज्म में व्यस्त हैं।”

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, इस बीच एक अज्ञात समूह ‘सोल्डाडोस डी फ्रेनेला’ ने ट्विटर पर हमले की जिम्मेदारी ली है और इसे ‘ऑपरेशन फोनिक्स’ करार दिया है। इस समूह ने ‘सैन्य व नागरिक देशभक्त समूह’ होने का दावा किया है जो ‘वेनेजुएला के लोगों के प्रति वफादार है।’ वेनेजुएला सरकार ने आज कहा कि उसने विस्फोटकों से लदे ड्रोनों के इस्तेमाल से राष्ट्रपति निकोलस मादुरो की हत्या के कथित प्रयास के मामले में छह ‘‘आतंकवादियों ’’ को गिरफ्तार किया है। गृह एवं न्याय मंत्री नेस्टर रेवेरोल ने सरकारी टेलीविजन पर गिरफ्तारी की घोषणा की। उन्होंने कहा कि कई वाहन जब्त किये गये हैं और कराकस में कई होटलों पर छापे मारे गये हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App