ताज़ा खबर
 

नेवी सैनिकों ने बनाई महिला सहकर्मियों की ‘रेप लिस्ट’! खुलासे के बाद मचा हड़कंप

Military.com की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस लिस्ट का खुलासा पिछले साल जून में हुआ था। मामले जांच की गई और 74 पेज की एक रिपोर्ट तैयार की गई।

सबमरीन में तैनात हैं 32 महिलाएं। (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

अमेरिका नौसेना की एक पनडुब्बी में तैनात नाविकों ने अपनी महिला सहमकर्मियों की एक ‘रेप लिस्ट’ बनाई। लिस्ट में यूएसएस फ्लोरिडा पर तैनात नाविकों ने लिखा कि वह महिलाओं के साथ किस तरह से और किस आधार पर यौन संबंध बनाना चाहते हैं। सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत यह जानकारियां सामना आई हैं। इस लिस्ट के खुलासे से हड़कंप मच गया।

Military.com की एक रिपोर्ट के मुताबिक, लिस्ट का खुलासा पिछले साल जून में हुआ था। मामले जांच की गई और 74 पेज की एक रिपोर्ट तैयार की गई। जांच में सामने आया कि नाविकों ने महिलाओं के खिलाफ 2 लिस्ट तैयारी की थी।

पहली लिस्ट में महिलाओं के रंग-रूप उनकी शारीरिक बनावट के आधार उनके साथ कौन-कौन से कृत्य करना चाहेंगे इसके बारे में लिखा गया था। वहीं दूसरी लिस्ट में महिलाओं के नाम के साथ ‘आक्रमक यौन गतिविधियों’ के बारे में लिखा गया था। इस लिस्ट की जानकारी तब सामने आई जब सबरमरीन में तैनात नाविकों ने इसकी सूचना अधिकारियों को दी। लिस्ट को एक इंटर्नल कंप्यूटर नेटवर्क पर स्टोर किया गया था और उसे नियमित रूप से अपडेट किया गया था। Military.com ने ही इसे ‘रेप लिस्ट’ करार दिया है।

बता दें कि फरवरी 2018 में गाइडेड मिसाइल सबमरीन यूएसएस फ्लोरिडा में महिलाओं को तैनात किया गया था। तैनाती के चार महीने के बाद इस लिस्ट का खुलासा हुआ है। सबरमीन में 172 क्रू सदस्यों में से 32 महिला सदस्य हैं।

लिस्ट के खुलासे के बाद महिलाएं खौफ में हैं और अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता में हैं। सबमरीन के ग्रुप 10 के कमांडर जैफ जबलोन ने बताया कि ‘मामले की जांच की गई और जांच में पाया गया कि दो नाविकों ने इस लिस्ट को तैयार किया। जिसके बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया है। वहीं मामले में शामिल अन्य नाविकों पर भी एक्शन लिया गया है।’

रिपोर्ट में कहा गया है कि कमांडिंग ऑफिसर कैप्टन ग्रेगोरी केचर को इस सूची के बारे में पहले से पता चला तो उन्होंने इसकी सूचना सीनियर अधिकारियों को दी। जिसके बाद इन सूचियों की औपचारिक जांच की गई। जांच शुरू हुई तो पनडुब्बी हिंद महासागर में थी। हालांकि जांच किस दिन शुरू की गई इसका खुलासा नहीं हुआ है।

वहीं इस घटना पर अमेरिका के सबमरीन फोर्सेस के कमांडर चास रिचर्ड ने कहा कि ‘मैं इस बात की गारंटी नहीं दे सकता कि इस तरह की घटना फिर कभी नहीं होगी, मैं गारंटी दे सकता हूं कि हम अपने उच्च आचरण को अपनाएंगे और जो ऐसा नहीं करेगा उसे जवाबदेह ठहराया जाएगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X