ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानी अखबार ने उड़ाया डोनाल्‍ड ट्रंप और भारत का मजाक, लिखा- मुसलमान हैं तो ये हैं अमेरिका जाने के 10 उपाय

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहले सात मुस्लिम बहुल देशों पर वीजा प्रतिबंध लगाया था जिस पर कोर्ट ने रोक लगा दी थी। पिछले हफ्ते नए आदेश में उन्होंने छह ऐसे देशों पर वीजा प्रतिबंध लगा दिया है जो 16 मार्च से लागू होगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहले सात मुस्लिम देशों के नागरिकों पर वीजा रोक लगायी थी। अदालत द्वारा उनके आदेश पर रोक लगाने के बाद ट्रंप ने दोबार छह मुश्लिम देशों पर वीजा रोक लगा दी। (AP Photo/Muhammed Muheisen)

डोनाल्ड ट्रंप 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति बने। 28 जनवरी को उन्होंने सात मुस्लिम देशों के नागरिकों पर अमेरिका प्रवेश पर रोक लगा दी। जब उनके आदेश पर एक स्थानीय कोर्ट ने रोक लगा दी तो ट्रंप प्रशासन ने पिछले हफ्ते दोबारा नए कानून के तहत छह मुस्लिम देशों पर ऐसा ही प्रतिबंध लगा दिया। नया प्रतिबंध 16 मार्च से लागू होगा। ट्रंप ने पहले ईरान, इराक, सोमालिया, लीबिया, यमन, सूडान और सीरिया के नागरिकों के अमेरिका प्रवेश पर रोक लगायी थी। अपने नए आदेश में उन्होंने इराक को प्रतिबंधित देशों की सूची से बाहर कर दिया है। ट्रंप की इस नीति पर पूरी दुनिया में जारी बहस के बीच पाकिस्तानी अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने इस पर एक गुदगुदाने वाला व्यंग्य लेख प्रकाशित किया।

इस लेख में मुसलमानों को ऐसी 10 ट्रिक बतायी गई हैं जिनकी मदद से वो अमेरिका में आसानी से घुस सकते हैं। पाकिस्तानी अखबार में लेखक शहजाद ग़यास ने न केवल अमेरिका की नई नीति बल्कि, अमेरिकियों, भारतीयों और मुसलमानों पर भी कटाक्ष किया है। पढ़िए विशुद्ध मनोरंजन के उद्देश्य बतायी गई ये ट्रिक क्या हैं-

1) केवल एक बीवी को लेकर अमेरिका जाएं- हो सकता है कि आपकी चार बीवियां हों लेकिन उनमें से कोई न कोई आपकी फेवरिट होगी। और अगल एक और बीबी को आप अमेरिका ले ही जाना चाहते हैं तो हवाई अड्डे के इमिग्रेशन अधिकारी को उसे अपनी “फ्रेंडस विथ बेनिफिट” बताएं। अमेरिकियों का अच्छी तरह पता है ऐसे दोस्त का महत्व।

2) मुस्लिम शॉवर की मांग कत्तई न करें- जैसा कि नाम से जाहिर है। तकनीकी क्षेत्र में अपनी तमाम उपलब्धियों के बावजूद अमेरिका को नहीं पता है कि मुस्लिम शॉवर क्या बला है। बेहतर होगा कि आप नास्तिकों के शॉवर का ही इस्तेमाल कर लें।

3)- भारतीय की तरह पेश आएं  – पाकिस्तानी नस्लवादी भारतीयों की जुबान का मजाक उड़ाते हुए अक्सर देखे जा सकते हैं। इन पाकिस्तानियों का मानना है कि गोरे इस जुबान का मजाक भारतीयों को चिढ़ाने के लिए करते हैं न कि सभी भूरे लोगों को। यहीं आप की सफलता का राज छिपा है। जब अमेरिका में जाएं तो भारतीय जुबान में बातचीत करें।
अमेरिकी मन ही मन आप पर भले ही हंसे लेकिन वीजा मामले में आपकी दिक्कत कम हो जाएगी।

4)- बार-बार बोलते रहें कि “मेरा नाम खान है और मैं आतंकवादी नहीं हूं”- इस पर विवाद हो ही नहीं सकता कि इस ट्रिक से जब शाहरुख खान अमेरिका जाने में कामयाब रहा तो बाकियों का क्या कहना!!

5)- दाढ़ी वालों के लिए विशेष ट्रिक- बहुत से दाढ़ी वाले मुसलमान भी अमेरिका जाने की ख्वाहिश रखते हैं। ऐसे लोगों को निराश होने की जरूरत नहीं हैं। उन्हें बस ये करना है कि वो कोई पुरान घिसा-पिटा सा दिखने वाला रेडियो उठाना है, सत्तर के दशक में पापुलर हुए कपड़े पहनकर अमेरिका के लिए निकल पड़ना है। और हाँ, प्लास्टिक के बड़े फ्रेम वाला चश्मा पहनना और “ऑर्गैनिक” “ग्रास फेड” और “लोकल” जैसे शब्दों का हर वाक्य में प्रयोग करना न भूलें।

6)- हवाई अड्डे पर करें नमाज से परहेज- मुसलमान कई बार अपनी ताकत दिखाने के लिए अमेरिकी हवाई अड्डों पर ही नमाज पढ़ने लगते हैं। इससे इमिग्रेशन वाले आसानी से मुसलमानों की पहचान करके उन्हें डिपोर्ट करा देते हैं। आइंदा जब आप किसी को एयरपोर्ट पर नमाज पढ़ते देखें तो जमात में न शामिल हों। किनारे खड़े होकर नजार देखें और हो सके तो बॉलीवुड का कोई गाना गाने लगें। अगर आप लकी हुए तो इमिग्रेशन वाले आपको भारतीय समझ लेंगे और आप बच जाएंगे।

7)- सबसे बड़ा हथियार है झूठ- डोनाल्ड ट्रंप चाहे कितनी भी कड़ी वीजा नीति बना लें उसमें एक छेद तो हमेशा रहेगा। दुनिया का कोई भी कानून “झूठ” के आगे नहीं टिक पाता। इमिग्रेशन फॉर्म को ज्यादा प्रभावी बनाने के लिए उसमें साफ सवाल होता है कि क्या आप आतंकवादी हैं? जाहिर है अमेरिकी मानते हैं कि आतंकवादी तो झूठ बोलेंगे नहीं लेकिन आप गलती से भी सच न बोल दीजिएगा।

8)- मेक्सिकन से करें नफरत- अगर आप सोचते हैं कि अमेरिका में केवल मुस्लिम अल्पसंख्यक नस्ली घृणा के शिकार होते हैं तो आप गलत हैं। ट्रंप मुसलमानों की तरह मेक्सिकन से भी नफरत करते हैं। इसलिए इमिग्रेशन अधिकारियों के सामने मेक्सिकन के प्रति बार-बार नफरत जाहिर करने का मौका न चूकें। हो सके तो “मेक्सिको की सीमा पर हम बनाएंगे दीवार, हो हो मन में है विश्वास, पूरा है विश्वास, हम बनाएंगे दीवार…” गुनगुनाते रहें।

9)- बन जाएं अमेरिकी मुखबिर- अगर आप अमेरिकी अधिकारियों को ये यकीन दिला दें कि आप वहां छिपे मुसलमानों की पहचान बता सकते हैं तो बहुत संभव है कि वो आपको मुखबिर के तौर पर अपने यहां बुला लें। और अपनी साख बनाने के लिए आप अमेरिका में रहने वाले किसी चाचा,मामा या फूफा का नाम तुरंत ही उन्हें संदिग्ध के तौर पर दे सकते हैं।

10)- नहीं तो फिर कनाडा जाइए- ये बात ठीक है कि अमेरिका आज जो है वो प्रवासियों की वजह है लेकिन फिर भी ऊपर बतायी गई नौ ट्रिक से आप अमेरिका न जाए पाएं तो उसके पड़ोस तक आप जरूर जा सकते हैं। जी हाँ हम बात कर रहे हैं कनाडा की जहां हैंडसम पीएम जस्टिन ट्रूडु आपका स्वागत करेंगे। आपको तो पता ही होगा कि पाकिस्तानी ट्रकवाले भी ट्रुडु के दिवाने हैं।

वीडियो: अमेरिका: NRI महिला ने प्रेस सचिव से पूछा- 'कभी देशद्रोह किया?' जवाब मिला- 'हमारा देश महान जो आपको आने देता है'

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App