ताज़ा खबर
 

गर्भवती को मार गर्भाशय चीर बच्चे को निकाला, महिला को मौत की सजा देने की हो रही तैयारी

अमेरिका की एक संस्था के मुताबिक, 1964 से लेकर अब तक गर्भ से बच्चे चोरी के 21 मामले दर्ज किए हैं, इनमें से 18 तो साल 2004 के ही हैं।

अमेरिका में अगले साल की शुरुआत में एक महिला को दी जाएगी मौत की सजा। (प्रतीकात्मक फोटो)

अमेरिका में 16 साल पहले एक दर्दनाक घटना के लिए अब महिला को मौत की सजा देने की तैयारी हो रही है। बताया जाता है कि 2004 में लिजा मोंटगोमेरी नाम की महिला ने एक प्रेग्नेंट औरत के पेट को किचन के चाकू से चीर दिया था, ताकि उसके अजन्मे बच्चे को किडनैप कर सके। अब अमेरिका में जहां इस अपराध के लिए सजा की तैयारी हो रही है, वहीं विशेषज्ञ यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर किस वजह से युवती ने इस तरह के अपराध को अंजाम दिया और भविष्य में इसे किस तरह रोका जाए।

बॉस्टन कॉलेज की प्रोफेसर और 1990 के दौर में गर्भ से हो रही बच्चों की चोरी के बारे में रिसर्च करने वाली एन बर्जेस के मुताबिक, यह एक डरावना काम था और इसके लिए काफी साजिश करने की जरूरत पड़ी होगी। बच्चों के अपहरण मामलों पर सीनियर कंसल्टेंट जॉन रेबन ने कहा कि पिछले 15-20 सालों में इस तरह के अपराध काफी सामने आए हैं। उनकी संस्था ने 1964 से लेकर अब तक गर्भ से बच्चे चोरी के 21 मामले दर्ज किए हैं, इनमें से 18 तो साल 2004 के ही हैं।

क्या थी मोंटगोमेरी की कहानी: बताया जाता है 2004 में तब 36 साल की रही मोंटगमेरी चार बच्चों की मां थी। उसने एक ऑपरेशन के जरिए आगे गर्भधारण नामुमकिन बनवा दिया था, हालांकि उसके करीबियों को इस बारे में जानकारी नहीं थी। अभियोजन पक्ष के वकील का कहना है कि आऱोपी ने अपने शिकार को ऑनलाइन खोजा। और यह एक कुत्ते पालने वाली महिला बॉबी स्टीनेट निकलीं।

इसके बाद मोंटगोमेरी एक कुत्ते का बच्चा खरीदने के बहाने स्टीनेट के घर पहुंची और उन्हें मार दिया। इसके बाद उसने महिला के गर्भ से उसका बच्चा निकाल लिया और स्टीनेट को खून में सना छोड़ दिया। मोंटगोमेरी इसके बाद राज्य से बाहर चली गईं और अपने पति को खुद के गर्भवती होने की झूठी कहानी सुनाई और बताया कि बच्चा उनका अपना है। हालांकि, 2007 में मोंटगोमेरी को पकड़ लिया गया और उस पर महिला की हत्या और किडनैपिंग के आरोप तय किए गए। कोर्ट ने उसे मौत की सजा सुनाई।

वकील ने की सजा बदलने की मांग: अपराध किस हद तक डरावना था, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मोंटगोमेरी के वकील ने कभी भी हत्या से जुड़े तथ्यों को झुठलाने की कोशिश नहीं की। हालांकि, उसने मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदलने की मांग कर दी। वकील का तर्क था कि मोंटगोमेरी बचपन में ही हिंसा का शिकार हुई और यहां तक की उसके साथ दुष्कर्म भी हो चुका था। हालांकि, अमेरिकी न्याय विभाग ने अपराध को डरावना करार देते हुए महिला की सजा की तारीख का ऐलान कर दिया। इसी महीने की शुरुआत में तय तारीख को 12 जनवरी 2021 कर दिया गया।

Next Stories
1 PM मोदी, अमित शाह को राहत, US में दर्ज 10 करोड़ डॉलर का मुकदमा खारिज
2 अमेरिका चुनावः जो बाइडन और कमला हैरिस की जीत पर लगी मोहर, बोले- अब जख्मों को भरने का समय
3 6 साल के बच्चे ने iPad के जरिये मम्मी के खाते से खर्च कर दिये 11 लाख रुपये, रिफंड के सवाल पर कंपनी ने दिया ये जवाब
ये  पढ़ा क्या?
X