ताज़ा खबर
 

काबुल में अमेरिकी विश्वविद्यालय पर आतंकी हमले की अमेरिका ने की निंदा

व्हाइट हाउस ने हमलों के बाद अफगान राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों की त्वरित कार्रवाई की सराहना की, जिन्होंने मुंहतोड़ जवाब दिया और विश्वविद्यालय को सुरक्षित बनाया।

Author वॉशिंगटन | August 25, 2016 1:22 PM
अमेरिकी राष्ट्रपति का आधिकारिक निवास स्थान ‘व्हाइट हाउस’

अमेरिका ने काबुल स्थित अमेरिकी विश्वविद्यालय पर हुए आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए, अफगान सरकार और जनता के प्रति अपना समर्थन दोहराया और साथ ही अफगान बलों की त्वरित कार्रवाई की तारीफ की। व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा, ‘अमेरिका काबुल स्थित अमेरिकी विश्वविद्यालय पर बुधवार (24 अगस्त) हुए आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता है। हम हमलों के बाद अफगान राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों की त्वरित कार्रवाई की सराहना करते हैं, जिन्होंने मुंहतोड़ जवाब दिया और विश्वविद्यालय को सुरक्षित बनाया।’

उन्होंने कहा, ‘हमारी संवेदनाएं हमले में मारे गए लोगों के परिवार वालों के साथ हैं और हम घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं। हम साथ ही अफगानिस्तान को अधिक स्थिर, सुरक्षित और समृद्ध बनाने में जुटी अफगान सरकार और जनता को हमारे समर्थन की बात दोहराते हैं।’ विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता एलिजबेथ ट्रूडो ने कहा कि विश्वविद्यालय पर हमला अफगानिस्तान के भविष्य पर हमला है।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने कहा कि यह हमला अफगानिस्तान के लोगों पर मंडराने वाले खतरे को रेखांकित करता है, खासतौर पर तब, जब यह उनकी सुरक्षा स्थिति से जुड़ा है। अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘हम इस बात पर गौर करेंगे की अफगान सुरक्षा बलों के कौशल और पेशेवर रुख में सुधार हो। ऐसा अचानक नहीं हो रहा है। ऐसा अमेरिका और हमारे नाटो सहयोगियों की उस प्रतिबद्धता के कारण है, जो उन्होंने अफगान सुरक्षा बलों को अपनी क्षमता और योग्यता बढ़ाने के लिए जताई है, ताकि वे अपने देश में सुरक्षा की स्थिति कायम कर सकें।’

राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने काबुल स्थित विश्वविद्यालय में मौजूद सभी लोगों के लिए अपनी संवेदनाएं जाहिर की। उन्होंने कहा, ‘हमें कट्टरपंथी इस्लामी आतंक को हराने की जरूरत है। जो भी हमारे दुश्मन का नाम नहीं लेगा, वह हमारे देश का नेतृत्व करने लायक नहीं है।’ खुफिया जानकारी से जुड़ी सीनेट सेलेक्ट कमेटी के अध्यक्ष सिनेटर रिचर्ड बुर ने कहा, ‘उम्मीद और प्रगति के प्रतीक (विश्वविद्यालय) पर यह त्रासद हमला अफगानिस्तान में तेजी से बिगड़ती सुरक्षा स्थिति को एकबार फिर रेखांकित करता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App