ताज़ा खबर
 

अमेरिका और चीन के बीच रिश्तों में और खटास, ट्रंप प्रशासन ने चीनी एयरलाइंस को ब्लॉक करने की योजना बनाई

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक ट्रंप प्रशासन ने चीन द्वारा अमेरिकी एयरलाइन्स को देशों के बीच सेवा फिर से शुरू करने से रोकने के बाद यह फैसला किया है।

Trump, China, USAट्रम्प प्रशासन ने चीनी एयरलाइंस को ब्लॉक करने की योजना बनाई है।

दुनियाभर में कोरोना वायरस  महमारी का संकट चरम पर है लेकिन ऐसे हालात में भी विश्व के दो बड़े देशों की तनातनी अभी भी जारी है। अमेरिका और चीन के रिश्तों में और खटास बढ़ती नजर आ रही है।, ट्रम्प प्रशासन ने चीनी एयरलाइंस को ब्लॉक करने की योजना बनाई है। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक ट्रंप प्रशासन ने चीन द्वारा अमेरिकी एयरलाइन्स को देशों के बीच सेवा फिर से शुरू करने से रोकने के बाद यह फैसला किया है। इसके चलते दोनों देशों के बीच लोगों के आवागमन के साथ-साथ आर्थिक गतिविधियों पर भी असर पड़ेगा।

अमेरिका के परिवहन मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि उसने 16 जून से चीनी एयरलाइंस की सभी यात्री उड़ानों को रोकने का फैसला किया है। इसके बाद दोनों तरफ से किसी भी तरह की हवाई यात्रा नहीं हो पाएगी। हाल ही में चीन ने अमेरिका की युनाइटेड एयरलाइंस और डेल्टा एयरलाइंस की उड़ान सेवा शुरू करने की अनुमति नहीं दी थी। जिसके बाद अमेरिका ने यह कदम उठाया है।

इससे पहले ट्रंप की भारत-चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर मध्यस्थता की पेशकश से भी चीन ने इनकार कर दिया था। चीन ने बुधवार को कहा कि भारत के साथ मौजूदा गतिरोध के समाधान के लिए किसी ‘‘तीसरे पक्ष’’ की मध्यस्थता की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि दोनों देशों के पास सीमा संबंधी संपूर्ण तंत्र और संपर्क व्यवस्थाएं हैं जिनसे वे वार्ता के जरिए अपने मतभेदों का समाधान कर सकते हैं। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजान ने यहां एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि भारत से लगती सीमा पर चीन की स्थिति ‘‘सुसंगत और स्पष्ट’’ है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन ने कहा- सीमा पर तनाव को लेकर, ‘तीसरे पक्ष’ की मध्यस्थता की कोई जरूरत नहीं, दोनों देशों के बीच शीर्ष सैन्य स्तर पर होगी बातचीत
2 US अशांतः ‘अहम के मद में डोनाल्ड ट्रंप’, जो बाइडेन बोले- प्रदर्शनकारियों पर जब फ्लैश ग्रेनेड फेंके जा रहे थे, तब राष्ट्रपति फोटो खिंचाने में मशगूल थे
3 सीमा विवाद के बीच चीन की नई चाल, पीओके में 1,124 मेगावाट क्षमता की बिजली परियोजना लगाएगा