ताज़ा खबर
 

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट पहुंचे भारतीय ग्रामीण, गुजरात के पावर प्लांट के खिलाफ होगी सुनवाई

अमेरिका का सुप्रीम कोर्ट गुजरात में एक बिजली संयंत्र के खिलाफ भारतीय ग्रामीणों की एक अपील पर सुनवाई करने को सहमत हो गया है।

Author वाशिंटगन | Updated: May 22, 2018 12:27 PM
अमेरिका का सुप्रीम कोर्ट करेगा गुजरात के बिजली संयंत्र के खिलाफ सुनवाई

अमेरिका का सुप्रीम कोर्ट गुजरात में एक बिजली संयंत्र के खिलाफ भारतीय ग्रामीणों की एक अपील पर सुनवाई करने को सहमत हो गया है। इस संयंत्र के कारण कथित तौर पर पर्यावरण को नुकसान पहुंचा है और इसके लिए अमेरिका स्थित इंटरनेशनल फाइनेंस कॉरपोरेशन (आईएफसी) कोष प्रदान कर रहा है। सु्प्रीम कोर्ट ने कल कहा , ‘‘ याचिका स्वीकार की जाती है। ’’ इस मामले की सुनवाई अक्तूबर से शुरू हो रहे अगले सत्र में की जाएगी। कई किसानों और मछुआरों सहित ग्रामीणों की अगुवाई कर रहे बुद्ध इस्माइल जाम ने आरोप लगाया कि कोयले से चलने वाली टाटा मुंद्रा पावर प्लांट से व्यापक तौर पर पर्यावरण को नुकसान पहुंचा है।

वाशिंगटन डीसी स्थित आईएफसी परियोजना के लिए 45 करोड़ अमेरिकी डॉलर की मदद कर रहा है। यह विश्व बैंक की आर्थिक शाखा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह यह तय करेगा कि क्या आईएफसी के पास ‘इंटरनेशनल आॅर्गनाइजेशन इम्यूनिटी एक्ट’ 1945 के तहत छूट है या नहीं।

निचली अदालतों द्वारा उनकी याचिकाओं पर सुनवाई करने से इनकार करने के बाद जाम और अन्य याचिकाकर्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। अपनी याचिका में ग्रामीणों ने दलील दी है कि टाटा मुंद्रा बिजली संयंत्र, अंतरराष्ट्रीय पर्यावरणीय मानकों का पालन करने में विफल रही है। इसके परिणामस्वरूप स्थानीय पर्यावरण को नुकसान पहुंचा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पाकिस्तान ने विश्व बैंक के समक्ष उठाया ‘सिंधु जल संधि’ में भारत के कथित उल्लंघन का मामला
2 पाकिस्तानी कमांडर की धमकी- 12 मिनट में तबाह कर देंगे पूरा इजरायल
3 चीन में फरमान- मुस्लिमों में ‘देशभक्ति को बढ़ावा’ देने के लिए सभी मस्जिदों पर फहराए जाएं राष्ट्रध्वज