ताज़ा खबर
 

अमेरिकी मेजर ने ISIS आतंकियों को दी चेतावनी- सरेंडर कर दो या मरने के लिए तैयार रहो

मेजर जॉन ट्रोकसेल ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डालकर आईएस के सदस्यों को चेताया कि अगर वह आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो उन्हें मार दिया जाएगा।

मेजर ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डालकर आईएस के सदस्यों को चेताया है। (Source: Facebook)

अमेरिकी सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अगर इस्लामिक स्टेट समूह के जिहादी आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो अमेरिका एवं उसके सहयोगी देशों की सेना आतंकवादियों को गोली मार देगी या उनपर बम गिरा देगी। कमांड सार्जेंट मेजर जॉन ट्रोकसेल ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डालकर आईएस के सदस्यों को चेताया कि अगर वह आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो उन्हें मार दिया जाएगा। उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि अगर वह आत्मसमर्पण करते हैं तो उन्हें जेल में सुरक्षित रखेंगे और उन्हें खाना, चारपाई देंगे और उचित प्रक्रिया का पालन करेंगे।

उन्होंने कहा कि अगर वह आत्मसमर्पण नहीं करते हैं तो हम उन्हें सुरक्षा बलों द्वारा मरवा देंगे, उनपर बम गिराएंगे, उन्हें चेहरे पर गोली मार देंगे, या फावड़े से मार-मार कर उनकी हत्या कर देंगे। पोस्ट में अमेरिकी सैनिक की फोटो भी है जो फावड़ा पकड़ा हुआ है और किसी को संदेह है कि किसी व्यक्ति की फावड़े से कैसे हत्या की जा सकती है तो ट्रोकसेल ने बुधवार को एक डायग्राम पोस्ट करके इसे समझाया भी है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के ट्रंप प्रशासन ने अपने नागरिकों के लिए ट्रैवल एडवायजरी जारी की है जिसमें भारत की यात्रा के दौरान उन्हें सतर्क रहने की सलाह दी गई है। इस एडवायजरी में बताया गया है कि दुनिया के कौन से ऐसे खतरनाक देश हैं, जहां अमेरिकियों का जाना खतरे से कम नहीं है। इस एडवाइजरी में भारत को अमेरिका ने द्वितीय श्रेणी और पाकिस्तान को तृतीय श्रेणी में रखा है। दोनों ही श्रेणियों में स्थित देशों में नागरिकों को सुरक्षा का ध्यान रखने को कहा जाता है। भारत स्थित अमेरिकी दूतावास के मार्फत यहां यह सूची जारी की गई है।

इस सूची में भारत को नंबर दो पर रखने की कई वजहें गिनाई गई हैं। कश्मीर समेत पाकिस्तान से सटे इलाकों में आतंकवादी घटनाओं के कारण नहीं जाने की सलाह दी गई है। जबकि, देश के अन्य हिस्सों में बलात्कार की बढ़ती घटनाओं के कारण सावधानी बरतने को कहा गया है। अमेरिका ने अपने नागरिकों को भारत और पाकिस्तान के सरहदी इलाकों से 10 किलोमीटर दूर रहने को कहा है क्योंकि सीमा पर दोनों देशों के बीच तनाव है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App