ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रंप ने खाई ISIS को बर्बाद करने की कसम, कहा- अमेरिका को नहीं बनने देंगे कट्टरपंथियों की पनाहगाह

अपने सख्त आप्रवास नीति का बचाव करते हुए ट्रंप ने कहा, ‘हम अमेरिका में आतंकवाद की मोर्चाबंदी की इजाजत नहीं दे सकते।'

Author वॉशिंगटन | March 1, 2017 6:41 PM
आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट। (फाइल फोटो)

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार (1 मार्च) को कहा कि वह अपने देश को कट्टरपंथियों का अभयारण्य नहीं बनने देंगे। उन्होंने इस्लामिक स्टेट को खत्म करने के लिए मुस्लिम जगत के मित्रों समेत अन्य सहयोगियों के साथ काम करने का संकल्प जताया। कांग्रेस के अपने पहले संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि अमेरिकी नागरिकों की सेवा करना और उनकी रक्षा करना उनका दायित्व है। ट्रंप ने कहा, ‘वादे के अनुसार मैंने रक्षा विभाग को आईएसआईएस को खत्म करने की योजना बनाने का निर्देश दिया है- बर्बर और अधर्मी लोगों का ऐसा नेटवर्क जिसने मुस्लिमों, ईसाई और सभी धर्मों और मतों के पुरुषों, महिलाओं और बच्चों की हत्या की है।’ उन्होंने कहा, ‘अपने ग्रह से इस दुश्मन को खत्म करने के लिए हम मुस्लिम जगत के अपने दोस्तों समेत अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर काम करेंगे।’

अपने सख्त आप्रवास नीति का बचाव करते हुए उन्होंने कहा, ‘हम अमेरिका में आतंकवाद की मोर्चाबंदी की इजाजत नहीं दे सकते- हम अपने देश को कट्टरपंथियों का अभयारण्य नहीं बनने देंगे।’ उन्होंने कहा,‘कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से हमारे देश को बचाने के लिए भी हम कड़े कदम उठा रहे हैं।’ न्याय विभाग की ओर से उपलब्ध कराये गये आंकड़ों के अनुसार 9/11 के बाद से आतंकवाद के मामलों में दोषी ठहराये गये लोगों में बड़ी संख्या में वैसे लोग शामिल हैं, जो अमेरिका के बाहर से आये थे। ट्रंप ने कहा, ‘हम सद्भाव और स्थिरता चाहते हैं, युद्ध या संघर्ष नहीं। हम शांति चाहते हैं।’

‘इस्लामिक स्टेट को अमेरिका खदेड़ देगा और उसकी जड़ तक को मिटा देगा’

अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा है कि अमेरिका आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट को खदेड़ देगा और उनका समूल नाश कर देगा ताकि वह उनके देश और देशवासियों के लिये खतरा नहीं पैदा कर सके। वॉशिंगटन में गुरुवार (23 फरवरी) को आयोजित कंजर्वेटिव पॉलिटिकल एक्शन कॉन्फ्रेंस (सीपीएसी) में अपने संबोधन में पेंस ने कहा, ‘हमलोग आईएसआईएस को खदेड़ देंगे और उनके स्रोत का समूल नाश कर देंगे ताकि वह हमारे देश या हमारे परिवारों के लिये खतरा पैदा नहीं कर सके।’ उन्होंने कहा, ‘हम अमेरिकी सेना का पुनर्निर्माण शुरू करने जा रहे हैं। हमलोग लोकतंत्र के शस्त्रागार का पुनर्निर्माण करेंगे। हम अपने सैनिकों, नौसैनिकों, वायुसैनिकों, मरीन और तटरक्षकों को संसाधान उपलब्ध करायेंगे और उनके मिशन को पूरा करने एवं घर सुरक्षित लौटने के लिये जरूरी प्रशिक्षण उपलब्ध करायेंगे।’

पेंस ने कहा कि ट्रम्प प्रशासन कामकाजी परिवारों, छोटे कारोबारियों और किसान परिवारों के लिये टैक्स में कटौती कर एक बार फिर देश की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने जा रहा है। पेंस ने कहा, ‘हमलोग नौकरियां खत्म करने वाले नियमों को हटा रहे हैं और बराक ओबामा के हस्ताक्षर वाले असंवैधानिक शासकीय आदेशों को रद्द करने जा रहे हैं।’ वहां मौजूद लोगों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच पेंस ने कहा कि ट्रम्प अमेरिका को पहले रखते हैं और उन्होंने अमेरिकी लोगों की नौकरी पर वापसी पहले ही शुरू कर दी हैं। उन्होंने कहा, ‘वह सेना का पुननिर्माण कर रहे हैं और अपने दुश्मनों पर नजर रख रहे हैं। वह कानून प्रवर्तन का समर्थन करते हैं और अवैध आव्रजन को हमेशा के लिए खत्म कर रहे हैं।’

डोनाल्ड ट्रंप जल्द कर सकते हैं 'यात्रा प्रतिबंध' के नियमों में बदलाव; वापस ले सकते हैं फैसला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App