ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रंप ने Facebook Post में कहा- राष्ट्रपति चुने जाने पर कट्टरता छोड़ दूंगा

अमेरिका आने वाले लोगों के लिए बेहद कड़ी जांच प्रक्रिया का प्रस्ताव देने के एक दिन बाद ही अमेरिकी राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि यदि वह राष्ट्रपति चुने जाते हैं तो वे कट्टरता, घृणा और सख्ती छोड़ देंगे।

Author वाशिंगटन | August 18, 2016 04:55 am
डोनाल्ड ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए रिपब्लिकन पार्टी के कैंडिडेट हैं। (फाइल फोटो)

अमेरिका आने वाले लोगों के लिए बेहद कड़ी जांच प्रक्रिया का प्रस्ताव देने के एक दिन बाद ही अमेरिकी राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि यदि वह राष्ट्रपति चुने जाते हैं तो वे कट्टरता, घृणा और सख्ती छोड़ देंगे। ट्रंप ने फेसबुक पर डाले गए पोस्ट में कहा, ‘अमेरिकी जनता के प्रति मेरा यह संकल्प है : आपके राष्ट्रपति के रूप में, मैं आपका सबसे बड़ा शूरवीर होऊंगा। मैं यह सुनिश्चित करने के लिए लडूंगा कि हर अमेरिकी के साथ समान व्यवहार हो, उसे समान सुरक्षा मिले और उसे समान सम्मान मिले।’ अमेरिकी राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार ने कहा, ‘हम कट्टरता, घृणा और सख्ती के हर रूप को खारिज करेंगे और एक ऐसा नया भविष्य बनाने की कोशिश करेंगे, जो एकजुट अमेरिकी जनता के रूप में हमारी साझा संस्कृति और मूल्यों पर आधारित हो।’ उन्होंने अन्य पोस्ट में कहा, ‘जैसे हमने साम्यवाद की बुराइयों को उजागर करके और मुक्त बाजारों के गुणों को सामने लाकर, शीतयुद्ध को जीता, उसी तरह हमें चरमपंथी इस्लाम की विचारधारा का सामना करना चाहिए।’

ट्रंप ने कहा, ‘मेरे विपक्षी ऐसे देशों से लाखों डॉलर का चंदा लेते हैं, जहां समलैंगिक होना अपराध है और उसकी सजा कैद या मौत है। ऐेसे में, मेरा प्रशासन महिलाओं, समलैंगिकों और अलग-अलग मतों वाले लोगों के उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाएगा।’ उधर ट्रंप ने बुधवार को अपनी डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी हिलेरी क्लिंटन पर ‘कट्टरता’ का आरोप लगाते हुए कहा कि वह अफ्रीकी-अमेरिकियोंं को वोटों से ज्यादा कुछ नहीं मानतीं। ट्रंप ने अफ्रीकी-अमेरिकी मतदाताओं का समर्र्थन मांगते हुए कहा, ‘हम हिलेरी क्लिंटन की कट्टरता को खारिज करते हैं, जो अश्वेत समुदाय के लोगों के बारे में बुरी बातें करती हैं और उन्हें सिर्फ वोटों के तौर पर ही देखती हैं। वे उन्हें ऐसे इंसानों के रूप में नहीं देखतीं जो अच्छे भविष्य के हकदार हैं।

वह इस देश के लोगों को चोट पहुंचाने के बारे में और उन्हें दी गई पीड़ा के बारे में परवाह नहीं करती।’ राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार ने विसकंसिन में चुनावी रैली में कहा, ‘मैं हमारे देश में आज संघर्ष कर रहे हर उस अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक का वोट मांग मांग रहा हूं, जो एक अलग भविष्य चाहता है। हमारे समाज के लिए समय आ गया है कि हम कुछ बेहद ईमानदार और बेहद मुश्किल सच्चाइयों का सामना करें।’

ट्रंप ने कानून और व्यवस्था को बहाल करने का संकल्प लिया। इससे कुछ ही दिन पहले पुलिस की ओर से एक अश्वेत व्यक्ति पर की गई घातक गोलीबारी में सड़कों पर हिंसा भड़क उठी थी। उन्होंने कहा, ‘डेमोक्रेटिक पार्टी विफल रही है और उसने अफ्रीकी-अमेरिकी समुदाय के साथ विश्वासघात किया है। डेमोक्रेटिक पार्टी की अपराध नीतियों, शिक्षा नीतियों और आर्थिक नीतियों से और अधिक अपराध, और अधिक टूटे घर, और अधिक गरीबी ही पैदा हुई है।’ ट्रंप ने कहा कि आव्रजन के कड़े नियम उन अवैध प्रवासियों को देश में आने से रोकेंगे, जो उनकी नौकरियां खा जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App