ताज़ा खबर
 

वीडियो में पूर्व सहकर्मी को किस करते दिख रहे हैं ट्रंप, अमेरिकी राष्ट्रपति की टीम ने कहा- यह जबरन नहीं था

अमेरिकी राष्ट्रपति के अपने पूर्व सहकर्मी को चूमने का वीडियो सामने आया है। इस वीडियो पर ट्रंप की टीम का कहना था कि यह 'चूमना' जबरदस्ती नहीं था। इस बात को रखने के लिए ट्रंप की टीम ने घटना का वीडियो भी पोस्ट किया।

Author नई दिल्ली | July 13, 2019 12:42 PM
राष्ट्रपति की तरफ से महिला सहकर्मी के आरोपों से इनकार किया गया है। (फोटोः वीडियो स्क्रीनशॉट)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक बार फिर चर्चा में है। इस बार वह ईरान या उत्तर कोरिया को लेकर नहीं बल्कि अपनी पूर्व महिला सहयोगी को चूमने को लेकर खबरों में आ गए हैं। राष्ट्रपति ट्रंप एक वीडियो में अपने कैंपने से जुड़ी एक महिला सहकर्मी को चूमते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस महिला का नाम अल्वा जॉनसन है।

यह महिला अलबामा की रहने वाली है। महिला ट्रंप के राष्ट्रपति बनने को लेकर चलाए जा रहे प्रचार अभियान टीम का हिस्सा थी। महिला ने फरवरी में यह शिकायत दर्ज कराई थी कि ट्रंप ने उसे जबरदस्ती चूमा था। उसने यह भी आरोप लगाया था कि काम के दौरान उसे पुरुष सहयोगियों की तुलना में कम वेतन दिया गया।

हालांकि, वाइट हाउस की तरफ से इन सभी आरोपों से इनकार किया गया है। अब खबर है कि ट्रंप की लीगल टीम ने खुद एक वीडियो डालकर महिला के आरोपों की सच्चाई को सामने रखने का प्रयास किया है। इस लीगल टीम का कहना है कि राष्ट्रपति ने अल्वा जॉनसन को चूमा जरूर था लेकिन यह जबरदस्ती नहीं था।

ट्रंप के अटॉर्नी चार्ल्स हार्डर ने ट्वीटर पर एक शॉर्ट वीडियो क्लिप अपलोड कर उस घटना की जानकारी दी है। वीडियो में जॉनसन को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि ‘मैंने आपके लिए आठ महीने से अपने परिवार से दूर हूं।’ इसके बाद ट्रंप अपने कैंपेन से जुड़ी इस महिला सहकर्मी को चूमते दिखाई देते हैं। अल्वा फिर अपनी बात को दोहराती है, ‘आपके लिए आठ महीने।’ वह कहती है, ‘हम आपको वाइट हाउस में देखना चाहते हैं, मैं आपसे फरवरी में मिलूंगी।’

बुधवार को अदालत में दायर अपने जवाब में हार्डर ने दलील दी कि वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि ट्रंप जिस तरह अल्वा जॉनसन को किस कर रहे हैं वह उनके आरोपों से मेल नहीं खाता है। हार्डर ने ट्वीट में लिखा है कि वीडियो से यह स्पष्ट रूप से दिख रहा है कि जॉनसन के आरोप पूरी तरह से झूठे हैं। वही, जॉनसन के वकील ने कहा है कि उन्हें अभी तक घटना का ऑरिजनल बिना काटछांट वाला वीडियो नहीं मिला है। इस पहले ट्रंप के वकील ने इन आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App