X

न झुककर किया अभिवादन, क्वीन से आगे चलकर लिया गार्ड ऑफ ऑनर, ट्रंप ने ब्रिटेन में यूं तोड़ा प्रोटोकॉल

ट्रंप कथित तौर पर 92 वर्षीय महारानी के आगे चल रहे थे। ये वाकया उस वक्त हुआ जब दोनों सैनिकों की सलामी गारद का निरीक्षण कर रहे थे। इसके अलावा ट्रंप ने ब्रिटेन की महारानी से मिलने पर उनके आगे सिर भी नहीं झुकाया।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने शुक्रवार को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चाय पर विंडसर कैसल में बुलाया था। इस मुलाकात ने ट्रंप के लंदन आगमन से पहले ही नाराज चल रहे लंदनवासियों के गुस्से को और ज्यादा भड़का दिया है। ट्रंप कथित तौर पर 92 वर्षीय महारानी के आगे चल रहे थे। ये वाकया उस वक्त हुआ जब दोनों सैनिकों की सलामी गारद का निरीक्षण कर रहे थे। इसके अलावा ट्रंप ने ब्रिटेन की महारानी से मिलने पर उनके आगे सिर भी नहीं झुकाया। प्रोटोकॉल में हुई इन दो चूकों के अलावा उनकी मुलाकात बेहद आराम से हुई।

वहीं ट्रंप ने शुक्रवार को एक समाचार पत्र को दिए अपने इंटरव्यू में ब्रिटिश महारानी की जमकर तारीफ की। वहीं प्रधानमंत्री थेरेसा मे की ब्रेक्जिट पर अपनाई रणनीति के कारण जमकर निंदा की। हालांकि शाही परिवार के बारे में उनके पिछले बयान हल्के अंदाज में दिए गए थे। जिसमें उन्होंने कहा था कि वह प्रिंसेज आॅफ वेल्स डायना के साथ बिना किसी हिचक के सो जाएंगे। अपने दूसरे बयान में ट्रंप ने कहा था कि कौन है जो डचेज आॅफ कैंब्रिज यानी प्रिंस विलियम की पत्नी कैट मिडलटन का टॉपलेस फोटो नहीं लेना चाहेगा।”

11 लाख लोगों ने किया विरोध: जून 2017 के आम चुनावों में करीब 11 लाख लोगों ने ट्रंप की अाधिकारिक यात्रा का विरोध किया था। इन सभी लोगों ने इस याचिका पर हस्ताक्षर भी किए थे। लोग इसलिए ये मांग कर रहे थे क्योंकि इससे महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के सामने असहज करने वाली स्थिति पैदा हो सकती थी।

आधिकारिक यात्रा पर नहीं हैं ट्रंप : ब्रिटेन के चार दिनों के दौरे पर आए ट्रंप की ये अधिकारिक यात्रा नहीं है। लेकिन इसके बावजूद कई प्रोटोकॉल उसी तरह से निभाए गए हैं। जिसने राज्य के प्रमुख के साथ वक्त बिताना भी शामिल है। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने ट्रंप का स्वागत पश्चिमी लंदन में स्थित विंडसर कैसल में शाही गारद के साथ किया था। शाही सिपाहियों ने ट्रंप को शाही सैल्यूट किया और अमेरिका का राष्ट्रीय गान भी बजाया। दोनों राज्यों के प्रमुखों ने गारद का निरीक्षण किया और उन्हें मार्च पास्ट करते हुए देखा। ये रस्म कैसल के अहाते में ही निभाई गईं।

विंडसर कैसल में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के आगे चलते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। फोटो- एपी

जमकर की महारानी की तारीफ: ट्रंप इसके बाद महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के साथ चाय पीने के लिए चली गईं। ट्रंप ने अखबार को दिए बयान में कहा,”इतने सालों से वह देश का नेतृत्व कर रही हैं। उन्होंने कभी कोई गलती नहीं की है। आपने कभी भी कोई शर्मिंदा करने वाली हरकत नहीं देखी होगी। वह वाकई बेमिसाल महिला हैं। मेरी पत्नी उनकी बहुत बड़ी प्रशंसक हैं।” हालांकि ट्रंप के पिछले बयान ब्रिटेन के राजपरिवार के सदस्यों के बारे में इतने उदार नहीं रहे हैं। यही कारण है कि बकिंघम पैलेस साफ कर चुका है कि शाही परिवार का कोई भी अन्य सदस्य ट्रंप के साथ मुलाकात नहीं करेगा। ट्रंप पहले प्रिंस विलियम की पत्नी केट के बारे में और उससे भी पहले उनकी मां प्रिंसेज डायना के बारे में आपत्तिजनक बयान दे चुके हैं।

डायना पर दिया था बयान: साल 1997 में प्रिंसेज डायना की मौत के ठीक बाद दिए अपने इंटरव्यू में ट्रंप से एक इंटरव्यू में पूछा गया कि क्या वह डायना के साथ संभोग करना चाहते थे। ट्रंप ने कहा,”हां, मैं बिना किसी हिचक के उसके साथ संभोग करना चाहता था। वह नासमझ थी, लेकिन ये सब छोटी बातें हैं।” यही बातें ट्रंप ने साल 2000 में दिए अपने बयान में भी दोहराई थीं।

ट्रंप ने केट पर किया था ट्वीट: वहीं साल 2012 में जब प्रिंस विलियम की पत्नी केट की धूप सेंकते वक्त टॉपलेस फोटोग्राफ वायरल हो गई थी। ट्रंप ने ट्वीट किया था कि कौन है जो केट की तस्वीर लेकर उससे ढेर सारा पैसा नहीं कमाना चाहेगा, अगर वह खुली धूप में न्यूड सोने जैसी चीजें करेंगी। केट मिडलटन महान हैं लेकिन उन्हें खुले में न्यूड होकर धूप नहीं सेंकनी चाहिए थी। इसके लिए सिर्फ वही दोषी हैं।” वहीं ट्रंप से महारानी एलिजाबेथ के सबसे बड़े बेटे और विलियम के पिता प्रिंस चार्ल्स भी मुलाकात नहीं करेंगे।

  • Tags: Donald Trump, Elizabeth II, International News, international news in hindi,
  • Outbrain
    Show comments