scorecardresearch

दवा कंपनी Pfizer ने इसी साल किया कोरोना वैक्सीन लाने का दावा, आएंगी 4 करोड़ डोज

Pfizer के चीफ एग्जीक्यूटिव का कहना है कि कंपनी नवंबर के तीसरे हफ्ते में वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी मांगेंगी, ताकि वैक्सीन को समय पर लॉन्च किया जा सके।

covid vaccine in UK, Oxford University, AstraZeneca
WHO भी अगले साल की शुरुआत तक कोरोना वैक्सीन आने की बात कह चुका है। (फाइल फोटो)

अमेरिकी दवा कंपनी Pfizer इस साल के अंत तक ही कोरोनावायरस की वैक्सीन लॉन्च कर सकती है। फाइजर के अधिकारियों ने उम्मीद जताई है कि अगर उनकी वैक्सीन की टेस्टिंग सही तरह से आगे बढ़ती रही और नियामक संस्थाओं ने इसे मंजूरी दे दी, तो 2020 खत्म होने तक कंपनी अमेरिका में ही 4 करोड़ डोज मुहैया करा देगी। बता दें कि फाइजर का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्रा जेनेका और जॉनसन एंड जॉनसन जैसी बड़ी कंपनियां वैक्सीन के अगले साल तक बाजार में आने का अंदेशा जता चुकी हैं।

लेकिन Pfizer के चीफ एग्जीक्यूटिव एल्बर्ट बउरला का कहना है कि सब ठीक रहा तो वे 2020 में ही अमेरिका को 4 करोड़ वैक्सीन की डोज मुहैया करा देंगे। बता दें कि फाइजर ने अमेरिकी सरकार से साल के अंत तक इतनी ही डोज मुहैया कराने का कॉन्ट्रैक्ट किया है। कंपनी मार्च 2021 तक अकेले अमेरिका में 10 करोड़ वैक्सीन डोज उपलब्ध कराएगी।

फाइजर के अधिकारियों के इन दावों के बावजूद यह काम इतना आसान साबित नहीं होना वाला। दरअसल, अक्टूबर में आए कंपनी के डेटा के मुताबिक, अब तक वैक्सीन की क्षमता पहचानने से जुड़े टेस्ट नहीं किए गए हैं और न ही यह अन्य बेंचमार्क में मानकों के अनुरूप पाई गई है। पर बउरला का कहना है कि कंपनी नवंबर के तीसरे हफ्ते में वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी मांगेंगी, ताकि वैक्सीन को समय पर लॉन्च किया जा सके।

बउरला से जब पूछा गया कि क्या कंपनी वैक्सीन के सफल होने को लेकर ज्यादा तेजी दिखा रही है, तो उन्होंने कहा कि वे इस बारे में सावधानी से सकारात्मक हैं कि वैक्सीन काम करेगी। बता दें कि फाइजर की ओर से यह बयान ऐसे समय में आए हैं, जब कंपनी का लाभ हालिया समय में 71 फीसदी तक गिरकर 2.2 अरब डॉलर (करीब 16 हजार 232 करोड़ रुपए रह गया है। वहीं कंपनी के राजस्व में भी चार फीसदी तक की गिरावट आई है और अब यह 12.1 अरब डॉलर (करीब 89 हजार करोड़) रह गया है।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट