ताज़ा खबर
 

अमेरिका में सांसद ने की H1-B वीजा का लॉटरी सिस्टम खत्म करने की मांग

इस प्रोग्राम के तहत लोगों को उनकी योग्यता और पद के मुताबिक चुना जाना चाहिए।

अभी इस सिस्टम के मुताबिक 85,000 एच-1बी वीजा हर साल लोगों को दिए जाते हैं।

अमेरिका के एक शीर्ष रिपब्लिकन सांसद ने एच-1बी वीजा के लॉटरी सिस्टम को खत्म करने की मांग की है। कांग्रेसी जिम सीनसीनब्रेनर ने कहा कि इसमें सुधार की जरूरत है। एक नई अप्रोच के साथ इसमें सुधार किया जाना चाहिए। आप्रवासन और सीमा सुरक्षा पर हाउस न्यायपालिका उप-समिति के अध्यक्ष, जिम सीनसीनब्रेनर ने फोर्ब्स पत्रिका के एक लेख में लिखा है कि अभी के सिस्टम के मुताबिक 85,000 एच-1बी वीजा हर साल लोगों को दिए जाते हैं। अगर यहां आने वाले लोगों में कॉम्पटीशन है तो हमें उनमें से अच्छे लोगों को चुनकर लेना चाहिए। किसी को भी वीजा नहीं दे देना चाहिए।

इस प्रोग्राम के तहत लोगों को उनकी योग्यता और पद के मुताबिक चुना जाना चाहिए। यही इस प्रोग्राम का उद्देश्य है। सीनसीनब्रेनर का कहना है कि कंपनियां इसमें फेरबदल करके विदेशी लोगों को नौकरी दे देती हैं। वह कम पैसे में यहां काम करने आ जाते हैं। इसकी वजह से पढ़े लिखे अमेरिकी लोगों को नौकरी नहीं मिल पाती है। उच्च मानक और सख्त योग्यताएं लागू की जानी चाहिए। सीनसीनब्रेनर ने कहा कि कोई ऐसी नौकरी नहीं है जिसे अमेरिकी न कर सके लेकिन कम पैसे की वजह से कंपनियां विदेशी लोगों को नौकरी दे देती हैं।

गौरतलब है कि पिछले महीने ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी नागरिकता एवं आव्रजन सेवा में एक नई व्यवस्था दी है जिसके तहत किसी सामान्य कम्प्यूटर प्रोग्रामर को अब विशेषज्ञता-प्राप्त पेशेवर नहीं माना जाएगा जो एच-1बी कार्य वीजा के मामले में एक अनिवार्य शर्त रखी है। इस कदम का असर एच1बी कार्य वीजा के लिए आवेदन करने वाले हजारों भारतीयों पर पड़ सकता है। यह व्यवस्था अमेरिका के डेढ़ दशक पुराने दिशानिर्देशों के ठीक उलट हैं जिन्हें नई जरूरतों को पूरा करने के लिए जारी किया गया था। अमेरिकी नागरिकता एवं आव्रजन सेवाओं (यूएससीआईएस) ने कहा था कि प्रवेश के स्तर वाले कम्प्यूटर प्रोग्रामर अब सामान्य तौर पर विशिष्ट पेशे की सूची में स्थान नहीं पा सकेंगे। एससीआईएस ने 31 मार्च को एक ज्ञापन जारी करके यह स्प्ष्ट किया था कि अब कौन सी चीजें विशिष्ट पेशे के लिए जरूरी हैं।

H-1B वीजा पर पाबंदी को लेकर पीएम मोदी चिंतित; कहा- “भारतीय पेशेवरों पर पाबंदी सही कदम नहीं होगा”, देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App