ताज़ा खबर
 

हाफ‍िज सईद के जमात-उद-दावा और लश्‍कर की कमर तोड़ने के ल‍िए अमेर‍िका ने लगाया बैन

अमेरिका ने कहा है कि इन पाबंदियों को लगाने का उद्देश्य पाकिस्तान में मौजूद वित्तीय सहायता नेटवर्कों को समाप्त करना है।

mumbai terror attack mastermind hafiz saeed new political outfit allah-hu-akbar wkll fight pakistan genral electionजमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद। (File Photo)

अमेरिका ने मुंबई 26\11 हमले के मास्टर माइंड हाफिज सईद के संगठन जमात-उद दावा पर प्रतिबंध लगाए हैं। इसके अलावा यह प्रतिबंध लश्कर-ए-तैयबा, तालिबान, जमात-उल-दावा अल कुरान (जेडीक्यू) और इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया और आईएसआईएस खोरासन पर लगाया गया है। यह प्रतिबंध आतंकवादियों के नेतृत्व और धन इकट्ठा करने वाले नेटवर्कों को तबाह करने के प्रयास के लिए लगाया गया है। ट्रेजरी ऑफिस ऑफ फॉरेन असेट्स कंट्रोल (ओएफएसी) के निदेशक जॉन स्मिथ ने कहा कि इन पाबंदियों को लगाने का उद्देश्य पाकिस्तान में मौजूद वित्तीय सहायता नेटवर्कों को समाप्त करना है।

इन्हीं नेटवर्कों ने तालिबान, अलकायदा, आईएसआईएस और लश्कर-ए-तैयबा को आत्मघाती हमलावरों की बहाली और अन्य हिंसक गतिविधियां के लिए वित्तीय सहायता मुहैया कराई थी। स्मिथ ने कहा कि अमेरिका आतंकी गतिविधियों को सुविधा मुहैया करने वाले संगठनों सहित पाकिस्तान और उसके आसपास के क्षेत्रों में मौजूद आतंकवादियों को अक्रामक तरीके से निशाना बनाता रहेगा। स्मिथ ने कहा कि उन तीन व्यक्तियों और संस्थाओं को भी नामित किया गया है जिनका आतंकवादी समूहों के साथ संबंध हैं और वह अमेरिका और पाकिस्तान दोनों की सुरक्षा के लिए खतरा हैं।

खोरासन एक ऐतिहासिक क्षेत्र है जिसमें उत्तरपूर्वी ईरान का बड़ा क्षेत्र, दक्षिणी तुर्कमेनिस्तान, उत्तरी अफगानिस्तान और भारत का हिस्सा शामिल है। यह प्रतिबंध विशेष तौर पर हयातुल्ला गुलाम मोहम्मद (हाजी हयातुल्ला), अली मोहम्मद अबू तुरब, वेलफेयर एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ जमात-उद-दावा फॉर कुरान एंड सुन्ना (डब्ल्यूडीओ) के लिए कथित तौर पर पैसा इकट्ठा करने वाले संगठन इनायत-उर रहमान पर लगाया गया है। आपको बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने हाफिज सईद के नजरबंद की मियाद 90 दिनों के लिए बढ़ा दी थी।

हाफिज सईद पिछले तीन महीने से अपने घर में नजरबंद है। रविवार (30 अप्रैल) को 90 दिनों की उसकी नजरबंद की मियाद खत्म हो रही थी। पाकिस्तान की पंजाब सरकार ने देश के आतंकरोधी कानून के तहत सईद और उसके 4 सहयोगियों के नजरबंद की अवधि को बढ़ाने का फैसला लिया। सरकार ने 30 जनवरी को सईद और चार अन्य नेताओं को नजरदबंद कर दिया था। वहीं हाफिज सईद ने कोर्ट में सरकार के खिलाफ याचिका दायर की थी, हाफिज ने कहा था कि उसे कई महीनों से गैर कानूनी ढंग से हिरासत में रखा जा रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पाकिस्तान में नमाज के बाद धमाका, सीनेट के उपाध्यक्ष समेत 25 की मौत
2 श्रीलंका के तमिल समुदाय को खुद से जोड़ने के लिए पीएम मोदी ने लिया चाय का सहारा, कहा- दोनों देशों में एक चीज समान है, वो है ‘चाय’
3 ‘हमें फख्र है कि भारत हमारा दुश्मन है’- ऐसी जुबान बोलने वाले पाकिस्तान से कहां तक उम्मीद करे भारत
ये पढ़ा क्या?
X