ताज़ा खबर
 

Howdy Modi Event: मोदी के मंच से अमेरिकी नेता ने किया नेहरू की उपलब्धियों का जिक्र, अमित शाह ने बताया था पीओके के लिए जिम्मेदार

Howdy Modi Event: अमेरिकी नेता ने जवाहरलाल नेहरू के भारत की आजादी के समय के मध्य रात्रि के भाषण को भी याद किया। उन्होंने महात्मा गांधी के हर आंख के आंसू पोछने की बात का भी उल्लेख किया।

स्टेनी एच. होएर यूएस हाउस ऑफ रेप्रेजेंटेटिव के मैजोरिटी लीडर हैं। (फोटोः एएनआई)

 Howdy Modi Event: अमेरिका के ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी के मंच से अमेरिकी सीनेटर ने देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु की उपलब्धियों का जिक्र किया। अमेरिकी सीनेटर ने नेहरू के साथ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का भी उल्लेख किया।

यूएस हाउस ऑफ रेप्रेजेंटेटिव के मैजोरिटी लीडर स्टेनी एच. होएर ने कहा कि अमेरिका की तरह भारत ने अपनी प्राचीन परंपराओं को गांधी के सबक और नेहरू के विजन के जरिये खुद को एक सुरक्षित लोकतंत्र बनाए रखा है। उन्होंने कहा कि भारत एक ऐसा देश हैं जहां बहुलतावाद और प्रत्येक भारतीय के मानवाधिकार सुरक्षित हैं।

अमेरिकी नेता ने जवाहरलाल नेहरू के भारत की आजादी के समय के मध्य रात्रि के भाषण को भी याद किया। उन्होंने महात्मा गांधी के हर आंख के आंसू पोछने की बात का भी उल्लेख किया। गांधी ने कहा था कि जब तक लोगों की आंख में आंसू हैं और वे दुखी हैं तब तक हमारा काम पूरा नहीं हुआ है।

एक तरफ जहां अमेरिका में नेहरू भारत की प्राचीन परंपरा को सहेजने को लेकर याद किए जा रहे थे वहीं देश में नेहरू के पाक अधिकृत कश्मीर के लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह रविवार को कहा कि यदि जवाहरलाल नेहरु ने बेवक्त पाकिस्तान के साथ संघर्षविराम की घोषणा नहीं की होती, तो ‘पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर’ (पीओके) अस्तित्व में नहीं आता।

शाह ने कश्मीर का भारत में ‘एकीकरण नहीं करने’ को लेकर (प्रथम प्रधानमंत्री) नेहरू पर निशाना साधते हुए कहा कि इस मुद्दे से, तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरू के बजाय देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल को निपटना चाहिए था। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद केंद्रीय गृह मंत्री एक रैली को संबोधित करने पहुंचे थे।

इससे पहले पत्रकार राजदीप सारदेसाई ने अमेरिका में नेहरू का जिक्र होने को लेकर ट्वीट किया। राजदीप ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘भले ही कुछ भारतीय भूल गए हों लेकिन यह देखकर अच्छा लगा कि अमेरिकी संवैधानिक लोकतंत्र में नेहरू के योगदान को नहीं भूले हैं।’

Next Stories
1 मोदी ने सिख समुदाय से कहा, चौंकाने वाली खुशखबरी देंगे
2 पेट्रोनेट सालाना 50 लाख टन एलएनजी का आयात करेगी
3 अमेरिका में ‘हाउडी मोदी’ का डंका, चहुंओर मोदी का जलवा
ये पढ़ा क्या?
X