सीरिया में IS पर अमेरिकी हमले में गैस संयंत्र के प्रवेश द्वार को बनाया गया निशाना

बेरूत। सीरिया में जिहादियों के खिलाफ कार्रवाई में लगे अमेरिका नीत गठबंधन ने देश के मुख्य गैस संयंत्र के प्रवेश द्वार को निशाना बनाया जो इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों को उनके नियंत्रण वाले इस इलाके को खाली करने की स्पष्ट चेतावनी है । गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के निदेशक रामी […]

Author Published on: September 29, 2014 11:44 AM

बेरूत। सीरिया में जिहादियों के खिलाफ कार्रवाई में लगे अमेरिका नीत गठबंधन ने देश के मुख्य गैस संयंत्र के प्रवेश द्वार को निशाना बनाया जो इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों को उनके नियंत्रण वाले इस इलाके को खाली करने की स्पष्ट चेतावनी है ।

गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के निदेशक रामी अब्देल रहमान ने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय गठबंधन ने पहली बार कोनेको गैस संयंत्र के प्रवेश द्वार और इबादत क्षेत्र को निशाना बनाया । यह संयंत्र इस्लामिक स्टेट के नियंत्रण में है और सीरिया का सबसे बड़ा संयंत्र है ।’’
अमेरिका और मुख्यत: उसके अरब सहयोगियों ने मंगलवार को सीरिया में जिहादी ठिकानों पर हमले शुरू किए थे ।

कल तक हमलों में मुख्य रूप से जिहादी ठिकानों और आतंकवादियों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली तेल रिफाइनरियों को निशाना बनाया गया, ताकि आतंकियों की वित्तीय मदद के स्रोत को कमजोर किया जा सके ।

अब्देल रहमान ने कहा कि कोनेको गैस संयंत्र के प्रवेश द्वार और इबादत क्षेत्र पर किए गए हमले में ‘‘कोई जिहादी नहीं मारा गया । हालांकि उनमें से कुछ घायल हुए हैं ।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि अंतरराष्ट्रीय गठबंधन जिहादियों को संयंत्र छोड़ने के लिए विवश करने की कोशिश कर रहा है ।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रधानमंत्री जी, निवेशकों को लुभाने से पहले कुछ काम घर में भी!
2 मेडिसन स्कवायर के बाहर हंगामा, मोदी समर्थकों ने राजदीप सरदेसाई से की मारपीट
3 मेडिसन स्क्वायर में दिखा रॉकस्टार मोदी का जलवा, कहा: विकास को बनाना होगा जन आंदोलन
ये पढ़ा क्या...
X