ताज़ा खबर
 

अमेरिका: मैरीलैंड में महिला ने की गोलीबारी, 3 लोगों की मौत, खुद को भी किया शूट

एफबीआई ने कहा है कि हमलावर अब भी सक्रिय है और बाल्टिमोर फील्ड ऑफिस स्थानीय पुलिस की मदद कर रहा है। मैरीलैंड के गवर्नर लैरी होगन ने ट्वीट किया, ''हम अबेरदीन में हुई भयानक गोलीबारी की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। हमारी प्रार्थना उन सभी के साथ है जो इससे प्रभावित रहे और जिन्होंने पहले पहुंचकर मदद की। सरकार किसी भी समर्थन की पेशकश करने के लिए तैयार है।''

(Image Source: Jerry Jackson /The Baltimore Sun via AP)

अमेरिका के मैरीलैंड में एक महिला हमलावर ने गोलीबारी कर तीन लोगों की हत्या कर दी। सीएनएन की खबर के मुताबिक एक महिला ने एक ड्रगस्टोर डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर में गुरुवार (20 सितंबर) को गोलीबारी कर तीन लोगों को मार गिराया और खुद को दो बार गोली मारी। सीएनएन ने जांच के एक करीबी सूत्र के हवाले से लिखा है कि महिला एक असंतुष्ट कर्मचारी थी। उसने खुद के सिर में गोली मारी लेकिन आत्महत्या की पहली कोशिश में वह चूक गई लेकिन उसने दोबारा से खुद को गोली मारी। वारदात बाल्टिमोर से करीब 30 मील उत्तर पूर्व इलाके में राइट एड सपोर्ट फैसिलिटी सेंटर में अंजाम दी गई। यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि महिला राइट एड या इलाके की किसी और कंपनी के लिए काम करती थी या नहीं। पुलिस की तरफ से की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि संदिग्ध ने सिंगल हैंडगन का इस्तेमाल किया था। हमलावर महिला को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और वह गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है।

पुलिस के मुताबिक किसी भी कानून प्रवर्तन अधिकारी ने जवाबी कार्रवाई में गोली नहीं चलाई। राइट एड की प्रवक्ता सुसान हेंडरसन ने मीडिया को बताया कि डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर में 1000 कर्मचाकी काम करते हैं, जहां प्रोडक्ट्स को रिसीव किया जाता है और फिर डिलिवरी के लिए बढ़ाया जाता है। उन्होंने कहा, ”गोलीबारी प्राइमरी बिल्डिंग के नजदीक हुई थी। मेरी समझती हूं कि जगह सुरक्षित है।”

इससे पहले एसोसिएटेड प्रेस ने कानून प्रवर्तन अधिकारी के हवाले से वारदात की खबर दी थी। हारफोर्ड काउंटी की पुलिस ने गोलीबारी की वारदात की पुष्टि की थी और स्थानीय लोगों से अपील की थी कि वे स्पेसुटिया रोड और पेरीमैन रोड पर जाने से बचें। मैरीलैंड के गवर्नर लैरी होगन ने ट्वीट किया था, ”हम अबेरदीन में हुई भयानक गोलीबारी की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। हमारी प्रार्थना उन सभी के साथ है जो इससे प्रभावित रहे और जिन्होंने पहले पहुंचकर मदद की। सरकार किसी भी समर्थन की पेशकश करने के लिए तैयार है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App