ताज़ा खबर
 

US ELECTIONS 2016: रिपब्लिकन डोनाल्ड ट्रंप ने अब कहा- 27 प्रतिशत मुसलमान आतंकी

अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन उम्मीदवार एक बार फिर विवादित बयान देते हुए कहा कि दुनिया के 27 फीसद मुस्लिम 'बेहद आतंकी' हैं।

Author वॉशिंगटन | March 14, 2016 14:57 pm
रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्‍ड ट्रंप। (Photo Source: AP)

अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन उम्मीदवार एक बार फिर विवादित बयान देते हुए कहा कि दुनिया के 27 फीसद मुस्लिम ‘आतंकी’ हैं। विवादित बयानों के लिए मशहूर ट्रंप ने पहले भी मुस्लिमों के खिलाफ कई बयान दिए हैं। ट्रंप ने न्यूज चैनल फॉक्स न्यूज से बात करते हुए कहा कि दुनिया के 27 फीसदी मुस्लिम आतंकी हैं और यह आंकड़ा 35 फीसदी भी हो सकता है। ये वो लोग हैं जिनमें नफरत बहुत ज्यादा भरी हुई है और युद्ध भी कर सकते हैं। ट्रंप ने यह बयान उस वक्त दिया जब उनसे पूछा गया कि 1.6 अरब मुस्लिमों में से जिहाद के लिए लड़ रहे 1 लाख से ज्यादा मुसलमानों के बारे में उनके विचार पूछे गए। इस पर ट्रंप ने कहा कि आपका जिहाद के लिए लड़ रहे एक लाख मुस्लिमों का आंकड़ा गलत है। साथ ही उन्होंने कहा कि यह सर्वे करने वाले भी गलत हैं।

Read Also: US ELECTION में DIRTY DEBATE: डोनाल्‍ड ट्रंप ने बघारी प्राइवेट पार्ट के साइज की शेखी

ट्रंप ने पिछले सप्ताह भी मुसलमानों के खिलाफ बयान दिया था। ट्रंप कहा था कि इस्लाम हम से नफरत करता है। साथ ही उन्होंने कहा था कि सभी मुस्लिम इस श्रेणी में नहीं आते हैं लेकिन कहा कि उनमें से बहुत सारे हैं। वे कट्टपंथी इस्लामी आतंकवाद या कट्टर इस्लाम के बारे में बात कर रहे हैं। लेकिन इसे परिभाषित करना मुश्किल है। इसको अलग करना बहुत ही कठिन है। क्योंकि आप नहीं जानते कि कौन क्या है। हमें बहुत ही सावधान और जागरूक रहना होगा। हमें उन लोगों को देश में नहीं घुसने देना चाहिए जो अमेरिका से नफरत करते हैं।

Read Also: Feng Shui एक्‍सपर्ट की मानें तो ‘मुस्लिम विरोधी’ डोनाल्‍ड ट्रंप बन सकते हैं अमेरिकी राष्‍ट्रपति

डोनाल्ड ट्रंप के मुस्लिम विरोधी बयानों की दुनियाभर में आलोचना हो चुकी है। इन्होंने सबसे पहले दिसंबर में मुस्लिम विरोधी बयान दिया था। जिसमें कहा था कि मुसलमानों की अमेरिका में एंट्री पर तब तक रोक लगा देनी चाहिए जब तक हमारे देश के प्रतिनिधि यह पता नहीं लगा लेते कि हो क्या रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App