ताज़ा खबर
 

AMERICA ने अपने ही हवाई ठिकानों को बम बरसाकर किया तबाह! जानें वजह

अमेरिका ने ताल तम्र के शहर के पास तल बायदर में अपने मिलिट्री बेस पर बमबारी कर हवाई पट्टियां और अन्य बुनियादी ढ़ांचों को नष्ट कर दिया। ये वही इलाका है जहां अमेरिकी सेना कुर्द बलों और तुर्की सेना के बीच लड़ाई चल रही है।

Author नई दिल्ली | Published on: October 21, 2019 10:35 AM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (pc-twitter)

US, airbase, Syria, Al Hasakah, northeast Syria: सीरियाई मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक रविवार को अमेरिकी सशस्त्र बलों ने पूर्वोत्तर सीरिया के अल-हसाका प्रांत में अपने स्वयं के एयरबेस को बमबारी कर ध्वस्त कर दिया। दरअसल अमेरिकी फौज ये एयरबेस छोड़कर जा रहे थे, इसीलिए एयरबेस को खाली करने से पहले फ़ौजियों ने बमबारी कर नेस्तनाबूद कर दिया।

सीरियाई अरब समाचार एजेंसी ने बताया कि अमेरिका ने ताल तम्र के शहर के पास तल बायदर में अपने मिलिट्री बेस पर बमबारी कर हवाई पट्टियां और अन्य बुनियादी ढ़ांचों को नष्ट कर दिया। ये वही इलाका है जहां अमेरिकी सेना कुर्द बलों और तुर्की सेना के बीच लड़ाई चल रही है। रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी सेना वर्तमान में अस-सबेयेह बांध के पास अल-हसकाह में एक और बेस छोड़ की तैयारियां रही है।

गौरतलब है कि विगत 7 अक्टूबर को अमेरिका ने घोषणा किया था कि वह उत्तरी सीरिया से अपनी सेना को वापस बुला रहा है। इससे दो दिन पहले ही तुर्की ने इस क्षेत्र में कुर्दों के खिलाफ सैन्य अभियाल शुरू किया था, जो अंकारा के लिए विनिमेय हैं। व्हाइट हाउस ने उस समय कहा था कि अमेरिका तुर्की के किसी अभियान को समर्थन देने या उसमें शामिल होने की स्थिति में नहीं है।

एक हफ्ते बाद, अमेरिकी रक्षा सचिव मार्क एरिज़ोना ने कहा कि अतिरिक्त 1,000 सैनिकों को वापस उत्तरी हिस्से से वापस बुला रहे हैं क्योंकि अमेरिका नहीं चाहता कि उनके सैनिक विरोधी सेनाओं के संघर्ष में फंसें। बता दें पूर्वोत्तर सीरिया में अंकारा के हमले को रोकने के लिए तीन दिन पहले संघर्ष विराम पर सहमति बनने के बाद भी हमला जारी रहा, जिसमें 20 नागरिकों और एक तुर्की सैनिक की मौत हो गई थी।

एफे न्यूज के अनुसार, कुर्दिश रेड क्रिसेंट ने कहा कि घायल हुए 20 नागरिकों में से चार की सीरिया के सीमावर्ती शहर रास अल-ऐन के एक अस्पताल में मौत हो गई। इसे तुर्की बलों द्वारा घेर कर आंशिक रूप से नष्ट कर दिया गया था। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन और अमेरिकी उप-राष्ट्रपति माइक पेंस के बीच गुरुवार रात युद्ध विराम हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पाक विदेश मंत्री का दावा- करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में आएंगे पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, चिट्ठी का दिया हवाला
2 Whatsapp Calls पर TAX वसूलना चाहती थी सरकार, सड़कों पर हजारों प्रदर्शनकारी, वापस लेना पड़ा फैसला
3 VIDEO: लूटपाट से घबराई बुजुर्ग महिला ने दे दिए अपने पैसे, लुटेरे ने सिर चूमकर वापस किए