ताज़ा खबर
 

‘साउथ चाइना सी में घुसे तो अमेरिका से जंग भी लड़ सकता है चीन’

साउथ चाईना सी में अमेरिकी जंगी जहाज की गश्‍ती पर चीन के भड़कने के बाद अमेरिका ने उससे बात की है।

अमेरिकी जहाज यूएसएस लैसेन के साउथ चाईना सी के विवादित क्षेत्र में जाने पर चीन भड़क गया था।

साउथ चाइना सी में अमेरिकी जंगी जहाज की गश्‍ती को लेकर चीन और अमेरिका में तनाव काफी बढ़ गया है। मंगलवार की घटना को लेकर बुधवार को चीन के सरकारी अखबार ने यह तक कह दिया‍ कि चीन को अमेरिका से युद्ध लड़ने में भी कोई डर नहीं लगेगा। इसके बाद गुरुवार को अमेरिका ने चीन से बात की। यह बातचीत ऐसे समय हुई है जब ऑस्‍ट्रेलिया ने घोषणा की है कि वह चीनी नौसेना के साथ मिल कर अगले सप्‍ताह साउथ चाईना सी में युद्ध अभ्‍यास करेगा। इस अभ्‍यास में दोनों देशों के युद्धपोत शामिल होंगे।

अमेरिकी नौसेना प्रमुख ने गुरुवार को अपने चीनी समकक्ष से वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए एक घंटे बातचीत की। एक अमेरिकी अधिकारी ने यह जानकारी दी। उसने बताया कि एडमिरल जॉन रिचर्डसन और एडमिरल वू शेंगली के बीच साउथ चाईना सी में हाल के दिनों के घटनाक्रम और अमेरिका-चीन के बीच नौसैनिक संबंधों को लेकर बातचीत हुई।

अखबार ने दी थी युद्ध की धमकी: चीनी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स ने अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन पर चीन को उकसाने का आरोप लगाया था और लिखा था कि चीन को अमेरिका से जंग लड़ने में कोई डर नहीं है। बुधवार को एक संपादकीय में अखबार ने लिखा था कि अमेरिका द्वारा अपमान किए जाने की सूरत में बीजिंग को वाशिंगटन को सबक सिखाना चाहिए और किसी भी स्थिति तक जाने के लिए तैयार रहना चाहिए। अखबार ने लिखा, ‘व्‍हाइट हाउस को यह समझ लेना चाहिए कि न चाहते हुए भी चीन को अमेरिका से युद्ध लड़ने में कोई डर नहीं है और चीन अपने सम्‍मान की रक्षा किसी भी कीमत पर करने के लिए तैयार है।’

ऑस्‍ट्रेलिया के साथ युद्ध अभ्‍यास अगले हफ्ते: गुरुवार को अमेरिका-चीन के नेवी चीफ में बातचीत से कुछ ही देर पहले ऑस्‍ट्रेलिया के रक्षा मंत्री मैरिस पेन ने एलान किया था कि अगले सप्‍ताह होने वाले अभ्‍यास के लिए एचएमएस स्‍टुअर्ट और एचएमएएस अरुंटा युद्धपोतों को झांजियांग में साउथ चाईना सी बेस पर भेजा जाएगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App