ताज़ा खबर
 

कुवैत से पत्नी को वाट्सऐप पर दे दिया तीन तलाक

कुवैत में मजदूरी करने वाले एक व्यक्ति ने वाट्सऐप पर तीन तलाक के जरिए यहां अपनी पत्नी को तलाक दे दिया। पुलिस ने गुरुवार को बताया कि उसकी पत्नी ने उसके और ससुराल वालों के खिलाफ दहेज और उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया था जिसके बाद उसने फोन पर तलाक दे दिया।

Author मुजफ्फरनगर | Updated: August 9, 2019 1:33 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (इंडियन एक्सप्रेस)

कुवैत में मजदूरी करने वाले एक व्यक्ति ने वाट्सऐप पर तीन तलाक के जरिए यहां अपनी पत्नी को तलाक दे दिया। पुलिस ने गुरुवार को बताया कि उसकी पत्नी ने उसके और ससुराल वालों के खिलाफ दहेज और उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया था जिसके बाद उसने फोन पर तलाक दे दिया। यह घटना तब सामने आई है जब कुछ दिन पहले ही संसद ने तीन तलाक को अपराध के दायरे में लाने वाला एक विधेयक पारित किया। पुलिस ने बताया कि महिला ने 27 मई को अपने पति और उनके परिवार के खिलाफ दहेज और उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया था। महिला ने आरोप लगाया कि उसके पति ने उससे पांच लाख रुपए मांगे।

पुलिस ने बताया कि आरोपी ने जिले के सिखेड़ा पुलिस थाने के तहत आने वाले बिहारी गांव की रहने वाली महिला पर मामला वापस लेने का दबाव बनाया, लेकिन उसने इनकार कर दिया। उन्होंने बताया कि महिला ने बुधवार को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि उसके पति ने कुवैत से वाट्सऐप पर तीन तलाक के जरिए उसे तलाक दे दिया। सिखेड़ा पुलिस थाने के एसएचओ अजय कुमार ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मामला दर्ज: उधर अजमेर में एक महिला ने अपने पति पर उसे प्रताड़ित करने तथा तीन बार तलाक कह कर विवाह विच्छेद करने का आरोप लगाया है। पीड़िता ने इस बारे में मंगलवार रात दरगाह पुलिस थाने में शिकायत की। दरगाह पुलिस थाने के एसएचओ हेमराज ने गुरुवार को बताया कि शुरू में इस बारे में महिला के पति सलीमुद्दीन (60) के खिलाफ धारा 498 ए के तहत मामला दर्ज किया गया।  उन्होंने कहा कि संसद में हाल ही में पारित तीन तलाक संबंधी कानून के प्रावधानों का इस्तेमाल इस मामले में किए जाने को लेकर विधिक राय ली जा रही है। आरोपी अजमेर दरगाह में खादिम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 समझौता एक्सप्रेस रुकी पर जारी है दिल्ली-लाहौर बस सेवा: तनाव के बीच उम्मीदों की यात्रा
2 पाकिस्तान हुकूमत के खिलाफ आक्रोश, गिलगिट-बाल्टिस्तान में सड़कों पर उतरी जनता
3 पाकिस्तानी कोर्ट ने आतंकी हाफिज सईद को ठहराया दोषी, गुजरात शिफ्ट किया गया मुकदमा