लंदन के होटल से यूपी के डिप्टी सीएम को रेस्क्यू कर निकाला गया, हो रहा था गैस लीक - UP Deputy CM Dinesh Sharma was Removed From London Hotel After Gas Leak - Jansatta
ताज़ा खबर
 

लंदन के होटल से यूपी के डिप्टी सीएम को रेस्क्यू कर निकाला गया, हो रहा था गैस लीक

एक प्रवक्ता ने बताया कि जांच उपकरण का इस्तेमाल करके गैस की आपूर्ति करने वाली मुख्य पाइप के फटे होने और वातावरण में प्राकृतिक गैस का उच्च स्तर का पता लगने के बाद हम पुलिस की सहायता कर रहे हैं।

Author लंदन | January 24, 2018 7:42 AM
उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा। (Source: PTI)

एजुकेशन वर्ल्ड फोरम 2018 में हिस्सा लेने आया भारतीय प्रतिनिधिमंडल उन सैकड़ों लोगों में शामिल है जिन्हें मंगलवार को तड़के गैस रिसाव के बाद उनके होटल से निकाला गया। 10 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी थे। उन्हें लंदन के चेयरिंग क्रॉस इलाके में स्थित अंबा होटल से स्थानीय समयानुसार तकरीबन दो बजे बाहर निकाला गया। लंदन में भारतीय उच्चायोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘उनके लिए ठहरने की वैकल्पिक व्यवस्था की गई है।’’ एजुकेशन फोरम को शिक्षा और कौशल मंत्रियों का दुनिया का सबसे बड़ा सम्मेलन माना जाता है।

ब्रिटेन के शिक्षा मंत्री डेमियन हिंड्स ने सोमवार को इसका उद्घाटन किया था और यह बुधवार को समाप्त होने वाला है। कार्यक्रम में दुनियाभर के वक्ता शामिल होते हैं और मंगलवार को यह पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार चला। लंदन के दमकल विभाग ने बताया कि गैस की आपूर्ति करने वाली मुख्य पाइप के टूटने की वजह से इलाके को खाली कराना पड़ा। इससे तकरीबन 1450 लोग प्रभावित हुए।

एक प्रवक्ता ने बताया, ‘‘जांच उपकरण का इस्तेमाल करके गैस की आपूर्ति करने वाली मुख्य पाइप के फटे होने और वातावरण में प्राकृतिक गैस का उच्च स्तर का पता लगने के बाद हम पुलिस की सहायता कर रहे हैं। एहतियात के तौर पर तकरीबन 1450 लोगों को वहां से निकाला गया है। वे एक होटल और नाइटक्लब से निकाले गए हैं।’’ प्रवक्ता ने बताया, ‘‘फिलहाल हम गैस लीक के कारणों के बारे में नहीं जानते हैं। काम चल रहा है और इंजीनियर रिसाव का असर समाप्त करने का प्रयास कर रहे हैं। इलाके में प्राकृतिक गैस की रीडिंग अब भी अधिक है।’’

स्कॉटलैंड यार्ड ने कहा कि वह लीक से निपटने के लिए दमकल सेवा और भागीदार एजेंसियों के साथ काम कर रही है। मेट्रोपोलिटन पुलिस ने बताया, ‘‘एहतियात के तौर पर इलाके को घेर लिया गया है और सड़कें बंद कर दी गई हैं और जनता तथा मोटर सवार लोगों को सलाह दी जाती है कि वे फिलहाल इस इलाके से बचें।’’ दो दमकलों, 20 अग्नि बचाव इकाइयों और 20 दमकलकर्मियों को घटनास्थल पर भेजा गया है। इलाके में सड़कों को सील कर दिया गया है और 150 मीटर का घेरा लगा दिया गया है और नेशनल ग्रिड के इंजीनियर रिसाव रोकने का प्रयास कर रहे हैं। गैस कंपनी कैडेंट ने कहा कि उसने मरम्मत का काम कर दिया है, लेकिन आस-पास के भवनों में जरूरी सुरक्षा जांच अब कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App